INDIA-US युद्धाभ्यास: अमेरिकी हथियार और भारतीय हौंसलों के साथ ध्वस्त हो रहे हैं महाजन में बने आतंकी ठिकाने


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीकानेरएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

महाजन फिल्ड फायरिंग रेंज में सूर्योदय से पहले ही भारतीय व अमेरिकी जवान एक साथ अभ्यास करते नजर आ रहे हैं।

महाजन फिल्ड फायरिंग रेंज में इन दिनों भारतीय जवानों के फौलादी हौंसलों के साथ अत्याधुनिक अमेरिकी हथियार रहते हैं। एक के बाद एक टारगेट पर हमले करते हुए भारतीय जवान आगे बढ़ते हैं तो उनकी हर गलती पर अमेरिकी जवान कुछ न कुछ नया बताने की कोशिश करते हैं। ठीक इसी तरह अमेरिकी जवानों को भारतीय जवान अपने हथियारों से रूबरू करवाते हैं।

भारत और अमेरिकी संयुक्त युद्धाभ्यास के बीच हर रोज एक नई योजना पर काम होता है। आतंकियों की अत्याधुनिक तकनीकों से कई गुना आगे सोचकर रणनीति बनाई जाती है। काल्पनिक आतंकी ठिकानों तक पहुंचने और हमला करने के समय को कम करने की नीति पर काम होता है। हर क्षण को कीमती मानते हुए युद्धाभ्यास कियाा जा रहा है। इस दौरान अमेरिकी व भारतीय दोनों हथियार काम आ रहे हैं। दो दिन पहले जिन अमेरिकी हथियारों की ट्रेनिंग दी गई थी, उसका उपयोग अब हो रहा है।

सूर्योदय से पहले मैदान में

खास बात यह है कि दोनों सेना के जवान सूर्याेदय से पहले मैदान में होते हैं। महाजन फिल्ड फायरिंग रेंज में बनी कई किलोमीटर लंबी सड़क पर दोनों सेना के जवान सुबह दौड़ लगाते हैं और फिर मैदान में उतर जाते हैं। हर रोज एक नया टास्क एक नई सोच के साथ होता है।

कोरोना से बचाव

अमेरिकी सेना के साथ एक जवान को कोरोना पॉजीटिव हाेने की खबर के बाद दोनों देशों की सेना और सैन्य अधिकारी हरकत में आ गए हैं। शुरू से ही सभी जवान मास्क लगाकर ही अभ्यास कर रहे थे लेकिन अब इस सख्ती को बढ़ा दिया गया है। अमेरिकी सेना में संदिग्ध जवानों को अभ्यास से दूर रखा गया है। वहीं भारतीय जवानों के प्रति भी सख्ती बढ़ाई गई है। सेना के प्रवक्ता अमिताभ शर्मा ने गुरुवार को बताया कि युद्धाभ्यास में कोरोना के प्रति पूरी सख्ती बरती जा रही है। युद्धाभ्यास के दौरान भी जवान कोरोना पर नियंत्रण रखते हुए टारगेट तक पहुंचने की कोशिश में जुटे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *