540 किलो चांदी चोरी मामला: एसओजी की स्पेशल टीम ने घटनास्थल पर एक घंटे तक की पड़ताल, तीन आरोपियों को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लिया


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

वैशाली नगर में डी ब्लॉक में रहने वाले डॉ. सुनीत सोनी के घर में 23 फरवरी को 540 किलो चांदी चोरी का मामला सामने आया था।

  • एसओजी के एक आईपीएस सहित चार सदस्यों की एसआईटी कर रही है अनुसंधान
  • 23 फरवरी को सामने आया था वैशाली नगर में डॉक्टर के घर से चांदी चोरी का मामला

वैशाली नगर में इलाके में जमीन के 10 फीट नीचे 26 फीट लंबी सुरंग खोदकर हेयर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉक्टर सुनीत सोनी के घर से 540 किलो चांदी चोरी करने के मामले में एसओजी ने जांच शुरु कर दी है। बुधवार को एसआईटी गठित करने के बाद गुरुवार को एसओजी की टीम घटनास्थल का जायजा लेने मौके पर पहुंची। इस टीम में एसओजी के डीआईजी शरत कविराज, एसपी राजेश सिंह व एडिशनल एसपी हरिप्रसाद सोमानी शामिल थे। टीम ने करीब एक घंटे से ज्यादा समय तक सुरंग व घटनास्थल का निरीक्षण किया।

बेसमेंट के कमरे में जमीन में गाड़ रखे थे लोहे के बक्से, जिनमें चांदी की सिल्लियां रखी थी

बेसमेंट के कमरे में जमीन में गाड़ रखे थे लोहे के बक्से, जिनमें चांदी की सिल्लियां रखी थी

मामले में प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार प्लॉट मालिक बनवारीलाल और दो अन्य आरोपी

इसके बाद एसओजी टीम ने सुरंग बनाकर चांदी चोरी के मुकदमे में जयपुर जेल में बंद चल रहे प्लॉट मालिक आमेर के कुंडा निवासी बनवारी लाल जांगिड़, केदार व कालू को प्रोडक्शन वारंट पर गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। उनसे सुरंग और चांदी चुराने के संबंध में पूछताछ शुरु की जा रही है।

गौरतलब है कि वैशाली नगर के डी-ब्लॉक निवासी डॉक्टर सुनीत सोनी के घर से सुरंग खोदकर 540 किलो चांदी की 18 सिल्लियां चोरी कर ली गई थी। यह चांदी लोहे के एक बक्से में रखकर बेसमेंट में बने एक कमरे में जमीन खुदाई कर गाड़ रखी थी। शेखर ने जिस मकान को बनवारी लाल के नाम से खरीदा था। वहीं से सुरंग बनाकर डॉ. सुनीत सोनी के घर के बेसमेंट तक पहुंचने का रास्ता बनाया था। इस वारदात का पता 23 फरवरी को चला था।

पड़ोस के मकान से 26 फीट लंबी सुरंग बनाकर की गई थी चांदी चोरी की वारदात

पड़ोस के मकान से 26 फीट लंबी सुरंग बनाकर की गई थी चांदी चोरी की वारदात

दो दिन पहले डीजीपी के आदेश पर एसओजी को ट्रांसफर हुई थी केस की जांच

इस मामले में वैशाली नगर थाना पुलिस अब तक 10 बदमाशों को पकड़ चुकी। लेकिन वारदात का मास्टर माइंड शेखर अग्रवाल और उसका रिश्तेदार जतिन फरार चल रहे है। मामले में पुलिस औजार, करीब 18 लाख रुपए बरामद कर चुकी है। लेकिन अभी तक चोरी हुई 540 किलो चांदी का एक टुकड़ा भी बरामद नहीं हुआ। ऐसे में पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े हो गए। पीड़ित की शिकायत के बाद डीजीपी एमएल लाठर ने दो दिन पहले चांदी चोरी मामले की जांच वैशाली नगर थाने से एसओजी जयपुर को सौंप दी। जिसमें एडीजी ने एक आईपीएस सहित चार सदस्यों की स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम गठित की थी।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *