सैटरडे गवर्नेंस’ के तहत एक्शन: जयपुर में गलत तौल मशीन और सत्यापन नहीं कराने वाले तीन व्यापारियों पर कार्रवाई, नोटिस देकर लगाई जाएगी पैनल्टी


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

 “सैटरडे गवर्नेंस” के तहत शनिवार को जयपुर शहर में ज्वैलर्स शोरुमों पर आकस्मिक निरीक्षण किया गया।

“सैटरडे गवर्नेंस” के तहत शनिवार को जयपुर शहर में सोने चांदी के आभूषण का व्यापार करने वाले व्यापारियों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। विधिक माप विज्ञान टीम द्वारा किये गए इस निरीक्षण में तोलने की मशीनों, बाट -माप में अनियमितता तथा सत्यापन नहीं कराना पाया जाने पर पीसी ज्वैलर्स, विजय प्रकाश खण्डाका सर्राफा एन्ड कंपनी तथा जेकेजे एन्ड संस ज्वैलर्स के विरुद्ध कार्रवाई की गई।

उपभोक्ता मामले विभाग के शासन सचिव नवीन जैन ने बताया कि निरीक्षण के दौरान रामबाग चौराहा स्थित पीसी ज्वैलर्स सोना और चांदी के वजन को तोलने के लिए प्रयोग में लाई जाने वाली मशीन की सत्यापन प्रमाण पत्र की वैधता तिथि समाप्त होना मिला।

फर्म की तौल मशीन के डिस्प्ले इंडिकेटर पर 50 ग्राम के सत्यापित बाट से जांच करने पर 50 ग्राम की जगह 1 ग्राम डिस्प्ले करना मिला। जिस कारण से वेइंग मशीन को जब्त किया गया। इसी प्रकार किशनपोल बाजार, जयपुर में विजय प्रकाश खण्डाका सर्राफा एन्ड कंपनी में एक वेइंग मशीन और जेकेजे एन्ड संस ज्वैलर्स, टोंक रोड़ पर चार वेइंग मशीन असत्यापित पाए जाने पर जब्त की गई।

नोटिस जारी करेन के बाद लगाई जाएगी पैनल्टी

जैन ने बताया कि संबंधित आभूषण व्यापारियों को नोटिस जारी कर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है और नियमानुसार पेनल्टी भी लगाईं जायेगी। उन्होंने बताया कि जांच कार्रवाई के दौरान सर्राफा बाजार के पदाधिकारियों को नियमों के बारे में बताया गया तथा सत्यापन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी दी गयी।

गौरतलब है कि विधिक माप विज्ञान अधिनियम की धारा 24 और विधिक माप विज्ञान सामान्य नियम के अंतर्गत व्यापारी की जिम्मेदारी होती है कि वह नियमानुसार नियत समयावधि में उसके द्वारा प्रयोग में ली जाने वाली तोलने की मशीनों, बाट और माप का सत्यापन नियमित रूप से करवाएं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *