सुखद खबर: काेराेना के कारण 10 महीने बाद पहली बार आज से खुलेंगे नर्सिंग संस्थान और पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

झुंझुनूं18 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

नर्सिंग काॅलेज में विद्यार्थियाें के बैठने के लिए व्यवस्थाएं करते हुए।

  • नर्सिंग संस्थान खुलेंगे, मास्क पहनकर आने वालों को ही क्लास रूम में मिलेगा प्रवेश, डिस्टेंस के साथ बैठना होगा

काेराेना के चलते बंद नर्सिंग संस्थान और पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट में 10 महीने बाद साेमवार से दुबारा पढ़ाई शुरू हाेगी। नर्सिंग व मेडिकल संस्थानाें के लिए गृह विभाग ने गाइड लाइन जारी की है। इसकाे लेकर रविवार काे नर्सिंग व पैरामेडिकल संस्थान संचालक तैयारियाें में लगे रहे। राजस्थान नर्सिंग काउंसलिंग ने जिले के नर्सिंग संस्थानाें और पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट काे संचालित करने की अनुमति दी है। सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन के अनुसार नर्सिंग व पैरामेडिकल विद्यार्थियाें की पढ़ाई साेमवार से शुरू हाेनी है।

इसके लिए संस्थानाें के मुख्य दरवाजे पर ही विद्यार्थियाें की थर्मल गन से स्क्रीनिंग हाेगी। मास्क लगाने के बाद उनकाे संस्थान में प्रवेश की अनुमति मिलेगी। क्लास रूम में जाने से पहले उनकाे सेनेटाइज कराया जाएगा। क्लास रूम में साेशल डिस्टेंस की पालना के साथ विद्यार्थियाें काे बैठाया जाएगा। नर्सिंग व पैरामेडिकल संस्थान के संचालक और स्टाफ तैयारियाें में लगे रहे। संस्थानाें काे सेनेटाइज कराने के साथ ही एसओपी के अनुसार बंदाेबस्त कराए गए हैं। एक क्लास में 40 स्टूडेंट्स के लिए व्यवस्थाएं की गई है।

जिले में 19 संस्थानाें में शुरू हाेगी पढ़ाई

जिले में नर्सिग और पैरामेडिकल की पढ़ाई कराने वाले 19 संस्थान हैं। इनमें एक सरकारी और 18 निजी संस्थान हैं। जिले में चार बीएससी नर्सिंग काॅलेज हैं। इनमें गुढ़ागाैड़जी, ढिगाल, पिलानी और झुंझुनूं शहर में एक-एक संस्थान है ताे एएनएम प्रशिक्षण केन्द्र बीडीके अस्पताल में संचालित है। इनके अलावा पांच जीएनएम प्रशिक्षण केन्द्र और नाै पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट चल रहे हैं। इन सभी में साेमवार से पढ़ाई शुरू हाेगी।
20 मार्च काे लाॅक हुए थे नर्सिंग व पैरामेडिकल संस्थान

काेराेना के चलते लाॅकडाउन लगने के साथ ही 20 मार्च से नर्सिंग और पैरामेडिकल संस्थानाें काे बंद कर दिया गया था। इसके बाद करीब 10 महीने तक ये बंद ही रहे। काेराेना का प्रकाेप कम हाेने और वैक्सीनेशन के लिए नर्सिंग विद्यार्थियाें की मदद मिलने काे लेकर राज्य सरकार ने इनकाे दुबारा संचालित करने की अनुमति दी है। इसके बाद गृह विभाग ने इनका संचालन करने के लिए एसओपी जारी की।

बाहर से आने वाले विद्यार्थियाें काे लानी हाेगी काेराेना निगेटिव की रिपाेर्टनर्सिंग और पैरामेडिकल संस्थानाें में बाहर से आने वाले विद्यार्थियाें काे 24 घंटे पहले आरटीपीसीआर काेराेना जांच की रिपोर्ट लेकर आनी हाेगी। नर्सिंग काॅलेज प्राचार्य वीरेन्द्र सिंह शेखावत ने बताया कि काेराेना जांच के बिना प्रदेश के बाहर से आने वाले विद्यार्थियाें काे प्रवेश नहीं दिया जाएगा। निगेटिव रिपाेर्ट हाेने पर ही एंट्री मिलेगी।

इस गाइड लाइन की करनी हाेगी पालना

  • नर्सिंग व पैरामेडिकल संस्थानाें में विद्यार्थी माता पिता की लिखित सहमति के बाद ही अा सकेंगे।
  • दाे विद्यार्थियाें के बीच छह फीट की दूरी रखनी हाेगी।
  • दाे बैच के बीच 30 मिनट का अंतर रखना हाेगा।
  • तीन घंटे पढ़ाई हाेगी। सुबह 9 बजे 12 बजे तक क्लास।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *