श्मशान में लॉकर: श्मशान भूमि में अस्थि कलशों को सुरक्षित रखने के लिए बनवाए स्टील के लाॅकर


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नागौर/लाडनूंएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

लाडनूं. जोगीदड़ा श्मशान भूमि में लाॅकर भेंट करते हुए।

  • लाॅकडाउन के दौरान आई समस्या के समाधान के लिए उठाया यह कदम

कोरोना काल में यहां अनेक परिवारों का अपने परिजनों की अस्थियों को परम्परागत ढंग से विसर्जन के लिए समय पर हरिद्वार नहीं ले जाया जा सकने के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए यहां जोगीदड़ा श्मशान भूमि पर अस्थियों को सुरक्षित रखे जाने के लिए एक लाॅकरनुमा स्टील आलमारी का निर्माण करवाया जाकर उसे श्मशान को समर्पित करते हुए वहां परिसर में सुरक्षित रखवाया गया है।

पंकज भटनागर ने बताया कि उनके पिताश्री गोपालकृष्ण भटनागर एवं माता महालक्ष्मी भटनागर की स्मृति में परिवार द्वारा यह अस्थि-संग्रहण आलमारी भेंट की गई है। इस आलमारी में अनेक तालाबंद सेपरेट लाॅकर बनाए गए है।

इनमें अस्थि-कलशों को तालाबंद सुरक्षित रखा जा सकता है। मनोज भटनागर ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान कई परिवारों द्वारा अस्थियों का विसर्जन समय पर नहीं हो पाया था और श्मशान घाट में अस्थि रखने के लिए पर्याप्त स्थान उपलब्ध नहीं था। इस समस्या के निवारण के उद्देश्य से इस अलमारीनुमा लॉकर का निर्माण विशेष रूप से करवाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *