विद्युत विभाग: डिस्कॉम के निजी कर्मचारियों को 6 माह से नहीं मिला मानदेय, कोई सुनवाई नहीं


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बाड़मेर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

33/11 केवी जीएसएस ऑपरेटर अधीन आने वाले सभी निजी कर्मचारियों ने शुक्रवार को बाड़मेर जिला कलेक्टर एवं अधीक्षक अभियंता जोधपुर विद्युत विभाग निगम लिमिटेड बाड़मेर को ज्ञापन सौंपकर बकाया मानदेय एवं पीएफ दिलाने की मांग की। ज्ञापन में कर्मचारियों ने बताया कि, हम समस्त ठेका कर्मचारी सिरसा बंसीवट फर्म, स्टेलिंग एंड विलसन फर्म में काम करते हैं तथा समस्त विभाग बाड़मेर में एईएन ऑफिस के अधीन काम करते हैं। हमारे ठेकेदार फर्म द्वारा हमारे पिछले 6 माह का मानदेय व पिछले 3 वर्ष का पीएफ बकाया हैं जो हमें अभी तक नहीं दिया गया।

हम बार-बार एईएन ऑफिस एवं ठेकेदार के पास चक्कर काट रहे है लेकिन हमें संतोष पूर्वक जवाब नहीं दे रहे हैं। बिना मानदेय हमारे परिवार का गुजारा चलना मुश्किल हो गया है। हमने दो बाड़मेर जिला कलेक्टर बाड़मेर ओर अधीक्षण अभियंता को ज्ञापन दे चुके हैं लेकिन उक्त ठेकेदार के खिलाफ किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं हुई। कम्पनी ने भी पिछले 3 वर्ष का हमें कोई प्रूफ भी नहीं दिया है और नहीं कोई अनुभव प्रमाण पत्र दिया है। कर्मचारियों ने बताया कि हम निजी कर्मचारियों का मानदेय भी 3900 रुपए है लेकिन ठेके पर लगे तब हमको 7500 रुपए देने का बोला था।

33/11 केवी के जीएसएस की सभी ऑफिसों पर 3 कर्मचारी होना आवश्यक है लेकिन विद्युत विभाग एवं ठेकेदार की मनमानी से कहीं पर तो एक तो कही पर दो ही कर्मचारी लगे हुए हैं। कर्मचारियों ने प्रशासन से सुरक्षा उपकरण भी दिलाने की मांग की। इस दौरान जयप्रकाश चौधरी, हरखाराम कड़वासरा इसरोल, जितेंद्र कुमार, श्रीराम, प्रेम कुमार, बाबुलाल, किशोरसिंह, गेनाराम, आईदान राम, ठाकराराम, धर्मेंद्र कुमार, उगमराम, नारायणसिंह, मासिगाराम, दिनेश कुमार, अमराराम, मोहनराम, सुरेश गोर, मोटाराम, किशोर सिंह, रूपाराम, मासिगाराम, बलवीर सहित कई कर्मचारी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *