वाहन चोर गिरोह पकड़ा: 3 बदमाशों से 5 कार और एक बाइक बरामद, चोरी के बाद काट के बेच देते थे वाहन के पार्ट्स


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

जयपुर के चौंमू थाना क्षेत्र में वाहन चोरी के मामले में पकड़े गए 3 आरोपी।

जयपुर की चौमूं थाना पुलिस को आज एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के 3 सदस्यों को पकड़ा है, जिनके पास से 5 कार और बाइक बरामद की है। इसके अलावा इन आरोपियों के पास से पुलिस को देशी कट्‌टा, कारतूस और चाकू भी मिले हैं। पकड़े गए तीनों आरोपियों में से दो वाहन चोरी की वारदतों को अंजाम देते थे, जबकि एक इन चोरी के वाहनों को खरीदता था।

चौंमू थाना पुलिस के थानाधिकारी हेमराज सिंह ने बताया कि कुंजीलाल मीणा (22) निवासी वजीरपुर सवाईमाधोपुर, रवि मीणा (20) निवासी बामनवास सवाईमाधोपुर और मुकेश मान (35) निवासी अमरसर को चौमूं स्थित हनुमानजी की पुलिया के नीचे घेराबंदी कर पकड़ा है। इस दौरान बदमाशों के कब्जे से एक देशी कट्टा, चार कारतूस, एक चाकू और वाहनों के लॉक तोड़ने के लगभग आधा दर्जन से अधिक उपकरण बरामद किए हैं। पकड़े गए बदमाशों से पूछताछ की तो उनकी निशानदेही पर शहर के अलग-अलग इलाकों से चुराई 5 चौपहिया और एक दुपहिया वाहन बरामद किए हैं।

वाहन चोरों से पुलिस ने बरामद किए हथियार व उपकरण।

वाहन चोरों से पुलिस ने बरामद किए हथियार व उपकरण।

पुलिस ने बताया कि पकड़ा गया कुंजीलाल मीणा के खिलाफ अलग-अलग थानों में एक दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। गिरोह जयपुर शहर में गोपालपुरा पुलिया के पास किराए के मकान में रहकर चोरी की वारदातों को अंजाम देता है। गिरोह चोरी के वक्त पता चलने पर लोगों से बचने के लिए धारदार हथियार और देशी कट्‌टे से फायर तक कर देता है। उन्होंने बताया कि कुन्जीलाल 2020 से वजीरपुर थाने में एक व्यक्ति का अपहरण करने के मामले में फरार चल रहा था। सवाईमाधोपुर पुलिस अधीक्षक की ओर से इसकी गिरफ्तारी पर 2 हजार रुपए का ईनाम घोषित था। कुंजीलाल का ही मुख्य साथी रवि है, जबकि मुकेश मान इनसे चोरी की गाड़ी खरीदने के मामले में लिप्त है।

हाड़ौता स्थित कारखाने में पड़े चोरी के वाहन, जिन्हे काटकर बेचा गया है।

हाड़ौता स्थित कारखाने में पड़े चोरी के वाहन, जिन्हे काटकर बेचा गया है।

गाड़ियां चोरी कर बेच देते थे 50 से 60 हजार रुपए में
थानाधिकारी ने बताया कि बदमाश चोरी के बाद चौपहिया वाहनों को 50 से 60 हजार रुपए में बेच देते हैं। ये गाड़ियां मुकेश मान ही इनसे खरीदता था और उनके पार्ट्स निकालकर बेच देता था। इसके अलावा जो एक्सीडेंटल गाड़ियां होती थी उन्हें भी खरीदने का काम ये मुकेश करता था। इसका चौंमू के पास हाडौता में एक कारखाना है। चोरी की 5 गाड़ियों में से 4 गाड़ियों के इसने कई पार्ट्स निकाल भी लिए थे और कुछ गाड़ियों को काट भी दिया था।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *