लाडनूं के निजी अस्पताल में हंगामा: गले का इलाज कराने आए युवक की इंजेक्शन लगने से मौत पर बिफरे परिजनों ने शव लेने से किया इनकार, 3 डाक्टरों के खिलाफ केस दर्ज होने पर माने


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लाडनूं (नागौर)4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पगारिया आई एंड ईएनटी हॉस्पिटल में युवक की मौत पर परिजनों ने हंगामा कर दिया।

यहां आठवीं पट्टी स्थित निजी चिकित्सालय पगारिया आई एंड ईएनटी हॉस्पिटल में चिकित्सक डा. जयसिंह पगारिया की लापरवाही से युवक की मौत का आरोप लगाते हुए परिजनों ने जमकर हंगामा कर दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को सम्भाला और चिकित्सक को हिरासत में लेकर लोगों को शांत किया।

वहीं मृतक के परिजन तथा लोगों ने पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया। उन्होंने शव का पोस्टमार्टम करने के लिए अपनी मर्जी का मेडिकल बोर्ड बनाए जाने तथा आरोपी तीन चिकित्सकों को गिरफ्तार करने की मांग की।

मृतक के परिजनों के अनुसार बुधवार शाम ग्राम बाड़ा निवासी जगदीश मेघवाल (24) यहां वीं पट्टी में ईएनटी के डॉक्टर को अपने गले की खराबी की जांच करवाने आया। इस दौरान चिकित्सक ने उसे कोई इंजेक्शन लगाया, जिसके बाद उसका चेहरा काला पड़ गया और जीभ बाहर निकल गई। देखते ही देखते मरीज ने वहीं पर दम तोड़ दिया।

इसके बाद परिजनों ने वहां चीख-पुकार मचा दी जिस पर बड़ी सख्यां में आसपास के लोग व ग्रामीण वहां एकत्रित हो गए और चिकित्सक का विरोध करते हुए जमकर हंगामा किया। इसकी सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस भी आ गई। मौके पर डीएसपी रामेश्वरम लाल और सीआई मुकुट बिहारी मीणा ने मृतक के परिजनों और ग्रामीणों को समझाया।

बाद में एडवोकेट हरिराम मेहरड़ा और ग्राम बाड़ा के पेमाराम के बीच-बचाव करने पर और डीएसपी द्वारा यह आश्वासन दिए जाने पर कि मुकदमा लापरवाही से मौत और मारपीट व रास्ता रोकने के साथ अनुसूचित जाति संबंधी गाली-गलौज के प्रावधान के तहत दर्ज किया गया है और तीनों डाक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। इसके बाद परिजनों ने शव प्राप्त करके अंतिम संस्कार के लिए अपने गांव ले गए। पुलिस ने तीन डाक्टरों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

अगले माह होनी थी मृतक की शादी
परिजनों ने बताया कि मृतक जगदीश पुत्र मांगीलाल मेघवाल की अगले माह अप्रेल में शादी होनी थी उसकी शादी को लेकर परिवार तैयारियों में जुटा था। इस बीच उसके गले में खराबी होने के कारण वह यहां चिकित्सक को दिखाने के लिए आया था जहां उसकी मौत हो गई। बताया गया है कि उसके गले में खराश और एलर्जी का काफी पहले से इलाज चल रहा था। पुलिस ने शव मोर्चरी में रखवाया है।

(रिपोर्ट: जगदीश यायावर)

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *