रेस्क्यू: नयापुरा में पहुंचा सांभर, चार घंटे बाद वन विभाग ने किया रेस्क्यू; आर्मी एरिया से निकलकर सीवी गार्डन तक पहुंच


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Sambhar Reached Nayapura, Forest Department Rescue Four Hours Later; Reaching The Army Area And Reaching CV Garden

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काेटा23 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • उसे ट्रेंक्यूलाइज करने की तैयारी में थे, तभी वाे 8 फीट ऊंची छलांग लगाकर गेट से बाहर कूद गया

रविवार सुबह आर्मी एरिया से निकलकर एक सांभर आबादी एरिया में पहुंच गया। करीब 4 घंटे तक सांभर नयापुरा की अलग-अलग काॅलाेनियाें में भागता रहा। इस दाैरान सांभर नयापुरा थाने में भी घुस गया। वन विभाग की टीम भी उसे रेस्क्यू करने के लिए पीछे-पीछे भागती रही। दाेपहर 12 बजे उसे सीवी गार्डन में ट्रेंक्युलाइज किया गया। चिड़ियाघर के सीनियर वेटेरनरी डाॅ. विलासराव गुल्हाने ने बताया कि रविवार सुबह 8 बजे आर्मी एरिया से सांभर बग्गीखाने में पहुंच गया। हमारी टीम सुबह 8.45 बजे माैके पर पहुंची।

हम उसे ट्रेंक्यूलाइज करने की तैयारी में थे, तभी वाे 8 फीट ऊंची छलांग लगाकर गेट से बाहर कूद गया। हमने पीछा करना जारी रखा। सड़क पर सांभर काे देखकर लाेग एक किनारे हाे गए। हमारी और पुलिस की टीम की एक ही चिंता थी कि कहीं सांभर या किसी व्यक्ति काे चाेट न लग जाए। इस दाैरान सांभर नयापुरा थाने के सामने पार्क में घुस गया। वहां उसके पीछे कुत्ते पड़ गए, ताे वाे थाने के अंदर पहुंच गया।

नयापुरा थाने से सीवी गार्डन पहुंचा

नयापुरा थाने से निकलकर जेल राेड से जेडीबी राेड तक पहुंचा। यहां से सीवी गार्डन की दीवार कूदकर अंदर चला गया। हम भी पीछे-पीछे चलते रहे। गनीमत रही कि किसी भी व्यक्ति और वाहनाें काे नुकसान नहीं हुआ। डाॅ. विलासराव के अनुसार सीवी गार्डन में सांभर काे ट्रेंक्युलाइज किया गया। उसके शरीर पर करीब 20 जख्म थे। चिड़ियाघर में दवा लगाकर उसका ट्रीटमेंट किया। टीम में मुकंदरा के सीनियर वेटेरनरी डाॅ. तेजेंद्र सिंह रियाड़, जू इंचार्ज चेतना, कमल प्रजापत, देवराज, सत्यनारायण, लाेगरलाल, बुद्धिप्रकाश शामिल रहे।

सांभर काे सुरक्षित चिड़ियाघर लाया गया है। आर्मी एरिया के सांभर काे ट्रांसलाेकेट करने के लिए आर्मी प्रशासन से बात करेंगे।

-डाॅ. एएन गुप्ता, डीसीएफ वन्यजीव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *