राहत की खबर: एमबीबीएस फर्स्ट-सेकंड ईयर, फार्मेसी, फिजियोथैरेपी, लैब टेक्नीशियन की क्लासें आज से लगेंगी, मेडिकल कॉलेजों ने पहले ही करवा ली स्टूडेंट्स की काेराेना जांच


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • MBBS First second Year, Pharmacy, Physiotherapy, Lab Technician Classes Will Be Started Today, Medical Colleges Have Already Got Students Examined

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर20 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

मेडिकल कॉलेज में कॉलेज शुरू होने से पहले क्लास रूम को सेनिटाइज करते हुए कर्मचारी।

  • एमबीबीएस प्रथम वर्ष के स्टूडेंट्स को कोरोना, उसकी जांच, बचाव, पेंडेमिक, एपिडेमिक, उपचार और वैक्सीन निर्माण का पाठ पढ़ाया जाएगा
  • नाै माह बाद 4900 स्टूडेंट अटेंड करेंगे क्लास, 180 क्षमता के लेक्चर थिएटर्स में 50 स्टूडेंट्स बैठेंगे

काेराेना महामारी के चलते इस सत्र में साेमवार काे पहली बार एमबीबीएस फर्स्ट-सेकंड ईयर के 2500 स्टूडेंट्स के साथ नर्सिंग, फार्मेसी, फिजियोथैरेपी, लैब टेक्नीशियन के 2400 स्टूडेंट्स की क्लासेज लगेंगी। प्रदेश सरकार के आदेश पर आरएनटी, गीतांजलि, पेसिफिक भीलों का बेदला, पेसिफिक उमरड़ा, जीबीएच बेड़वास और अनंता मेडिकल कॉलेज में क्लासेज लगेंगी।

आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डाॅ. लाखन पोसवाल और अनंता मेडिकल कॉलेज के रजिस्ट्रार नितिन शर्मा ने बताया कि अमूमन छात्राें की काेराेना जांच कर ली है। जिनकी रिपोर्ट निगेटिव है, उन्हें क्लास में बैठाया जाएगा। जाे स्टूडेंट्स रह गए हैं, उनकी जांच करवाई जाएगी। रिपोर्ट निगेटिव आने के पांच दिन बाद फिर कोरोना जांच होगी। दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही उन्हें क्लास में बैठाया जाएगा। 180-180 क्षमता के लेक्चर थिएटर्स में 50-50 स्टूडेंट्स को बैठाया जाएगा।

एमबीबीएस प्रथम वर्ष के स्टूडेंट्स को कोरोना वायरस संक्रमण, बचाव, पेंडेमिक, एपिडेमिक, कोरोना जांच, उपचार और वैक्सीन निर्माण तक की प्रक्रिया का पाठ पढ़ाया जाएगा। बता दें, एमबीबीएस फ्री फाइनल-फाइनल ईयर की कक्षाएं पहले से ही संचालित हैं।

नर्सिंग, फार्मेसी, फिजियोथेरेपी, लैब टेक्नीशियन के स्टूडेंट्स की क्लासेज एक दिन छोड़कर लगेंगी
सोमवार से नर्सिंग, फार्मेसी, फिजियोथैरेपी, लैब टेक्नीशियन के स्टूडेंट्स को एक दिन छोड़कर काॅलेज बुलाया जाएगा। उदयपुर कॉलेज ऑफ नर्सिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष हरीश राजानी ने बताया कि नर्सिंग, फार्मेसी, फिजियोथैरेपी, लैब टेक्नीशियन के स्टूडेंट्स की कोरोना जांच भी कराई जाएगी। इन सभी क्लासेज में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाने के लिए एक दिन की क्लासेज को दो दिन में बदल दिया गया है। सभी 22 नर्सिंग कॉलेजों के 2200 स्टूडेंट्स को घर या हॉस्टल से भोजन लाना होगा। मास्क, सेनेटाइजेशन, सोशल डिस्टेंस के नियमों की पालना करनी होगी।

स्कूल-कॉलेज और कोचिंग संस्थान 18 से खुलेंगे, स्कूल प्रबंधन को लेकर कलेक्टर आज लेंगे ऑनलाइन बैठक
सुविवि, विद्यापीठ, पेसिफिक, बीएन विश्वविद्यालय सहित अन्य महाविद्यालय और कोचिंग संस्थान भी 18 जनवरी से खुल जाएंगे। सोमवार शाम चार बजे कलेक्टर चेतन देवड़ा संबंधित विभागीय अधिकारियों की वीसी से बैठक लेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक शिवजी गौड़ ने इसमें जिला परिषद सीईओ, आईसीडीएस उपनिदेशक, सीएमएचओ, सीडीईओ, जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक व माध्यमिक), समग्र शिक्षा के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक उपस्थित रहेंगे।

ब्लॉक स्तर पर समस्त उपखंड अधिकारी, मुख्य ब्लॉक शिक्षाधिकारी, मुख्य ब्लॉक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सीडीपीओ और विकास अधिकारी मौजूद रहेंगे। सुविवि सहित सभी विश्वविद्यालयों, स्कूलों और कॉलेजों के छात्रों को अभिभावकों की लिखित अनुमति के बाद भी बुलाया जा सकेगा। क्लासेज में मास्क, दो गज की दूरी सहित अन्य कोविड गाइडलाइन की पालना करनी होगी। खाना घर से लाना हाेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *