राम मंदिर निधि समर्पण अभियान: पूरी ताकत झोंकने के बाद भी 66 फीसदी उपलब्धि, भरतपुर/धौलपुर में 14 करोड़ कलेक्शन


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भरतपुर12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डेमो पिक।

  • आमजन से संपर्क कार्यकर्ताओं के भरोसे छोड़ा, 50 फीसदी घरों तक पहुंच पाए

विश्व हिंदू परिषद के राम मंदिर निधि समर्पण अभियान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उसके संबद्ध संगठनों द्वारा पूरी ताकत झोंक दिए जाने के बाद भी टारगेट का 66 प्रतिशत ही हासिल हो पाया है। भरतपुर और धौलपुर जिले में 21 करोड़ रुपए का संकलन किया जाना तय किया गया था, लेकिन करीब 14 करोड़ रुपए ही संकलित हो पाए हैं। यद्यपि विहिप पदाधिकारी खुश हैं क्योंकि इंटरनल टारगेट 10 करोड़ का था।

फिलहाल हिसाब-किताब को समेटा जा रहा है और आजकल में प्रदेश मीटिंग होने वाली है, जिसमें हिसाब पेश किया जाएगा। श्रीराम मंदिर निधि समर्पण अभियान के संयोजक डॉ. सतीश भारद्वाज के अनुसार भरतपुर से 6.42 करोड़, धौलपुर से 4.27 करोड़ और डीग क्षेत्र से 2.5 करोड़ रुपए की समर्पण निधि प्राप्त हुई है। अभी कुछ चेक और रसीद कूपन आने वाले हैं। इस प्रकार भरतपुर/धौलपुर से करीब 14 करोड़ का कलेक्शन की संभावना है।

आमजन से संपर्क कार्यकर्ताओं के भरोसे छोड़ा, 50 फीसदी घरों तक पहुंच पाए

शुरुआत में विश्व हिंदू परिषद का दावा था कि अभियान के दौरान प्रत्येक परिवार तक संपर्क किया जाएगा, लेकिन भरतपुर/धौलपुर जिले के करीब 4 लाख परिवारों तक पहुंच पाए। विहिप के अनुसार भरतपुर/डीग क्षेत्र में करीब 2.5 लाख और धौलपुर में करीब 1.5 लाख परिवारों से संपर्क हो पाया जबकि दोनों जिलों में करीब 8 लाख परिवार हैं।

इस अभियान में विहिप के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उसके सहयोग संगठनों ने पूरी ताकत लगाई थी। सूत्रों का कहना है कि प्रमुख पदाधिकारियों ने ज्यादा जोर धनवान लोगों से संपर्क पर ध्यान दिया, जबकि आमजन से संपर्क कार्यकर्ताओं के भरोसे छोड़ दिया। फलस्वरूप आर्थिक और सामाजिक संपर्क का लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया।

(रिपोर्ट: प्रमोद कल्याण)

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *