रफ्तार के कहर में दौड़ते रहे 100 पुलिसकर्मी: फिल्मी स्टाइल में कार चालक ने तोड़ी 6 नाकाबंदी, पकड़ने के लिए सूनी सड़क पर 1 घंटे तक 50 किमी तक पीछा


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

एमडी रोड पर पुलिस ने कार चालक को पकड़ने के लिए सड़क से गुजर रही टैक्सियों, टूरिस्ट बस और अन्य वाहनों को रुकवाया। लेकिन कार चालक वहां भी नाकाबंदी तोड़कर भागा

  • झुंझुनूं से दो दोस्तों के साथ नाहरगढ़ किला देखने गुरुवार रात को जयपुर आया था कार चालक
  • रात 1 बजे पहले नाकाबंदी तोड़ी, इसके बाद रात करीब 2 बजे खासाकोठी में पकड़ा गया
  • एक पुलिसकर्मी का पैर टूटा, कार चालक ने पुलिस व विधायक की कार को भी मारी टक्कर

शहर में गुरुवार देर रात 1 बजे बाद फिल्मी स्टाइल में नाकाबंदी तोड़कर भाग निकले कार सवार तीन युवकों को पकड़ने के लिए पुलिस की गाड़ियां दनदनाती दौड़ती रही। शहर की सड़कों पर करीब एक घंटे तक तक यह भागने और पकड़ने के लिए पीछा करने का सीन चलता रहा। इस बीच कार चालक ने करीब छह जगहों पर पुलिस की नाकाबंदी को तोड़ते हुए कार को दौड़ाया।

विधायकपुरी थाना पुलिस की गिरफ्त में आए रोमिक ने कहा कि लाइसेंस नहीं होने से वह घबरा गया था। इसलिए बचने के लिए गाड़ी दौड़ाता रहा।

विधायकपुरी थाना पुलिस की गिरफ्त में आए रोमिक ने कहा कि लाइसेंस नहीं होने से वह घबरा गया था। इसलिए बचने के लिए गाड़ी दौड़ाता रहा।

फिर नाकाबंदी और पीछा कर रही पुलिस की दो सरकारी गाड़ियों को भी टक्कर मारकर क्षतिग्रस्त कर दिया। मोतीडूंगरी रोड पर नाकाबंदी में लगे बेरिकेड्स उड़ा दिए। इससे वहां ड्यूटी पर मौजूद कांस्टेबल का पैर फ्रेक्चर हो गया। करीब एक घंटे तक यह फिल्मी सीन चलता रहा। इस बीच लग्जरी कार का आगे का टायर डिवाइडर से टकराने पर फटकर अलग हो गया। इसके बावजूद चालक युवक ने कार को नहीं रोका। वह तीन टायरों पर दौड़कर पुलिस को छकाता रहा। इससे लोहे की रिम के सड़क से घिसटने पर चिंगारियां निकलती रही।

एक घंटे में करीब 50 किलोमीटर तक रफ्तार का पीछा, 13 थाना इलाकों में 100 पुलिसकर्मी पकड़ने में जुटे

पुलिस कर्मियों के मुताबिक करीब 1 घंटे तक शहर के 12 थाना इलाकों से करीब 50 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक सूनी सड़कों पर इधर-उधर दौड़ी। करीब 5 पुलिस अफसरों सहित 100 पुलिसकर्मी इस कार को पीछा करने और नाकाबंदी कर रुकवाने में जुटे रहे। आखिरकार रात करीब 2 बजे एमआई रोड पर कार चालक ने खासाकोठी स्थित सर्किट हाउस में पार्किंग में खड़ी अलवर के एक विधायक की गाड़ी को टक्कर मारी। इस बीच आगे रास्ता ब्लॉक होने से युवक कार को आगे नहीं भगा सका और मौके पर पीछा करते हुए विधायकपुरी थाना पुलिस ने युवक को धरदबोचा। इससे पहले कार में सवार युवक के दोनों दोस्त फरार हो गए।

डिवाइडर और पुलिस बेरिकेड् से टकराने पर कार का एक टायर फट कर अलग हो गया। तब भी कार तीन टायरों पर दौड़ती रही।

डिवाइडर और पुलिस बेरिकेड् से टकराने पर कार का एक टायर फट कर अलग हो गया। तब भी कार तीन टायरों पर दौड़ती रही।

गिरफ्त में आने पर बोला- पापा को पता चल जाता, इसलिए पुलिस से बचने के लिए भागता रहा

विधायकपुरी थाना पुलिस ने कार चालक युवक को शांति भंग में गिरफ्तार कर लिया। बाद में, मोतीडूंगरी थाना पुलिस ने युवक को मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार रोमिक भामू (25) झुंझूनूं जिले में अलीपुर का रहने वाला है। वह एक ऑनलाइन एजुकेशन एप कंपनी में जॉब करता है। रोमिक ने बताया कि गुरुवार रात को वह अपने पापा की गाड़ी लेकर जयपुर घूमने के लिए निकला था। रोमिक के साथ उसके दोस्त हितेश व मनीष भी कार में सवार थे। वे तीनों नाहरगढ़ किले पर जाना चाहते थे।

विधायकपुरी थाने में खड़ी रोमिक की क्षतिग्रस्त कार। पुलिस ने केस दर्ज कर जब्त कर लिया है

विधायकपुरी थाने में खड़ी रोमिक की क्षतिग्रस्त कार। पुलिस ने केस दर्ज कर जब्त कर लिया है

पापा को बिना बताए गाड़ी लेकर आया था, ड्राइविंग लाइसेंस नहीं होने पर तोड़ी पहली नाकाबंदी

रात 1 बजे जयपुर-सीकर हाइवे पर हरमाड़ा थाना इलाके में पुलिस नाकाबंदी के दौरान गाड़ियां चैक कर रही थी। उसके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था। बताया जा रहा है कि युवक नशे में भी थे। ऐसे में जब रोमिक ने आगे वाली गाड़ी के निकलते ही तेज रफ्तार में गाड़ी दौड़ा दी और नाकाबंदी को तोड़ते हुए आगे निकल गया। तब वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने पीछा शुरु करते हुए विश्वकर्मा पुलिस को सूचना दी। तब कार को रुकवाने के लिए विश्वकर्मा थाने मौजूद पुलिसकर्मी दोड़कर बाहर आए। लेकिन कार के रफ्तार में होने से रुकवा नहीं सके।

घटना का लाइव सीसीटीवी फुटेज: रात डेढ़ बजे कार को पकड़ने के लिए नाकाबंदी करते हुए पुलिस

घटना का लाइव सीसीटीवी फुटेज: रात डेढ़ बजे कार को पकड़ने के लिए नाकाबंदी करते हुए पुलिस

इन इलाकों में रफ्तार में दौड़ी कार, पुलिस की गाड़ियां करती रहीं नाकाबंदी और पीछा

इसके बाद रोमिक कार को सीकर रोड से विद्याधर नगर इलाके में ले आया। यहां से वह शास्त्री नगर की तरफ चला गया। इसके बाद पीतल फैक्ट्री पहुंच गया। जहां से पानीपेच चौराहा, बनीपार्क थाना इलाके में चिंकारा कैंटिन के सामने से होकर जयसिंह हाइवे पर पहुंचा। इसके बाद कलेक्ट्री सर्किल, एमआई रोड पर खासाकोठी चौराहा से अशोक नगर इलाके में अहिंसा सर्किल पहुंच गया।

वहां से स्टेच्यू सर्किल होते हुए एसएमएस हॉस्पिटल की तरफ गाड़ी को भगाकर ले गया। फिर नारायण सिंह सर्किल, त्रिमूर्ति सर्किल, मोती डूंगरी सर्किल पहुंचा। वहां एक बेरिकैड को टक्कर मारकर मोतीडूंगरी थाने के कांस्टेबल रतनाराम को घायल कर दिया। इसके बाद कार गुरुद्वारा मोड़, ट्रांसपोर्ट नगर, एमआई रोड होते हुए रात करीब 2 बजे सर्किट हाउस पहुंची। वहां अलवर के एक विधायक की कार को टक्कर मारकर रुक गई। तब पीछा कर रहे एएसआई मुकेश कुमार ने रोमिक को पकड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *