यूडीएच महकमे की सख्ती: रियायती दर पर जमीन लेकर तय समय में ​निर्माण नहीं करने वाले संस्थानों से जमीन वापस लेगी सरकार, 150 आवंटियों को नोटिस


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Notice To 150 Allottees To Withdraw Land From Institutions That Do Not Build In Time, By Taking Land At Concessional Rate

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सरकार से रियायती जमीनें लेकर उन पर निर्माण नहीं करने वाले संस्थानों को नोटिस जारी किए हैं (फाइल फोटो)

  • अब तक 1436 आवंटनों की जांच कर 150 को नोटिस दिया
  • राजधानी जयपुर में दो बड़े ग्रुप को भी नोटिस, मनीपाल ने सरेंडर की जमीन

प्रदेश भर में रियायती दरों पर सरकार से जमीनें लेकर तय अवधि में उन पर निर्माण नहीं करने वालों से सरकार अब जमीन वापस लेगी। रियायती दरों पर आवंटित की गई जमीनों के सभी आवंटियों का भौतिक सत्यापन पूरा हो चुका है और अब करीब 150 ऐसे आवंटी हैं जिन्होंने तय समय सीमा में जमीन पर निर्माण नहीं करवाया है। तय समय पर निर्माण नहीं करने वाले आवंटियों को नोटिस जारी किए गए हैं।

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि संस्थानों को रियायती दर पर इस शर्त के साथ जमीन आवंटित की जाती है कि वे तय समय मेंं निर्माण करें। इसकी जांच के लिए सरकार भौतिक सत्पापन के आदेश 2020 में दिए थे। रियायती दर पर जमीन लेने वाले संस्थानों का भौतिक सत्यापन बाकी हो तो 15 दिन में रिपोर्ट देनी होगी। अगर निर्माण नहीं किया तो 15 दिन का समय देकर जमीन का कब्जा लेने के आदेश हैं।

धारीवाल ने कहा, रियायती दरों पर जमीन लेकर कई लोगों ने शर्तों की पालना नहीं की और अवैध निर्माण भी कर लिए। प्रदेश भर में विकास प्राणिकरणों, यूआईटी, हाउसिंग ​बोर्ड ने 1436 संस्थानों को रियायती दर पर जमीन आवंटन किया है। इनमें से भौतिक सत्यापन में 166 आवंटियों द्वारा शर्तों का उल्लंघन करना पाया गया, इनमें से 150 को नोटिस जारी किए हैं, 16 कोर्ट में चले गए। नोटिस के बाद संतोषजनक जवाब नहीं आता है तो 15 दिन में इन जमीनों का कब्जा संबंधित प्राधिकरण या यूआईटी को लेने के निर्देश हैं।

नगरपालिकाओं में 710 आवंटन रियायती दरों पर है जिनमें से 58 सही नहीं पाए गए। किसी संस्था ने जमीन आवंटन की शर्तों का उल्लंघन किया और निर्माण नहीं किया। निर्माण अवधि बढाने की स्वीकृति नहीं ली उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

जयपुर में अस्पताल से जुड़े 2 बड़े समूहों को नोटिस
राजधानी जयपुर में अस्पताल के लिए जमीन लेकर लंबा समय बीत जाने के बाद भी उस पर निर्माण नहीं कराने पर 2 बड़े अस्पताल समूहों को नोटिस दिया है। महिन्‍द्रा लाईफ स्‍पोर्ट्स सर्विसेज प्रा.लि. को आवंटन की शर्तों का उल्‍लंघन करने के कारण एक मार्च को नोटिस जारी कर स्‍पष्‍टीकरण मांगा गया है। बापू नेचर केयर हॉस्पिटल व योगाश्रम को भूमि आवंटित की गई थी जिस पर लीज डीड की शर्तों का उल्‍लंघन कर तय अवधि में निर्माण नहीं करने के कारण संस्‍था को नोटिस जारी किया गया है।

मनीपाल समूह ने सरेंडर की रियायती दर पर मिली जमीन
मनीपाल हैल्‍थ सिस्‍टम प्रा.लि. बैंगलोर को निर्माण नहीं करने पर नोटिस जारी किया गया था। संस्‍था ने आवंटित भूमि के बदले दूसरी जगह जमीन आवंटित करने की मांग की, जिसकी पूर्ति नहीं होने पर आवंटित भूमि के पेटे जमा राशि वापस करने और जमीन सरेंडर करने का अनुरोध किया है। वह आवंटन निरस्‍त करके हाउसिंब बोर्ड को ​अगली कार्यवाही के लिए निर्देश दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *