महाकालेश्वर मंदिर खुलने का इंतजार: कोरोनाकाल में बंद हुए महाकाल मंदिर को अब तक नहीं खोले जाने पर छिड़ा विवाद


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर20 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • बजरंग दल बोला- मंदिर को आज नहीं खोला गया तो हम खोल देंगे
  • मंदिर प्रशासन बोला- जबर्दस्ती ठीक नहीं, कार्रवाई की जाएगी

काेराेना काल में लाॅकडाउन की वजह से बंद हुए शहर के सभी प्रमुख मंदिर खुल चुके हैं, लेकिन भक्ताें काे अब भी रानी राेड स्थित महाकालेश्वर मंदिर खुलने का इंतजार है। इसकाे लेकर बजरंग दल ने महाकाल मंदिर न्यास काे चेतावनी दी है कि अगर भक्ताें के लिए दर्शन नहीं खाेले गए ताे साेमवार काे संगठन के कार्यकर्ता मंदिर के दरवाजे खुलवाएंगे।

वहीं न्यास का कहना है कि अभी प्रशासन की अनुमति नहीं मिली है, जबरदस्ती हाेने पर कार्रवाई की जाएगी। बजरंग दल का कहना है कि मार्च से मंदिर बंद है, साेमवार काे भी नहीं खुला ताे कार्यकर्ता शाम 5 बजे मंदिर के दरवाजे खुलवाएंगे। इसकाे लेकर दल के प्रांत संयोजक दीपक प्रजापत सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने ट्रस्ट को ज्ञापन भी दिया।

1 अक्टूबर से दर्शन खुलना संभावित था, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की तैयारी भी पूरी
1 अक्टूबर से दर्शन खुलना संभावित था। इसमें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद भक्ताें को दर्शन की अनुमति मिलनी थी। बैरिकेडिंग, अभिषेक करने और प्रसाद चढ़ाने पर पाबंदी जैसी तैयारियां की थी।

हम प्रशासन की ही मानेंगे
मंदिरदेवस्थान विभाग ने अनुमति दी है। प्रशासन के निर्देश का इंतजार है। हम भी चाहते है मंदिर जल्द खुले और तैयारी भी पूरी है। कोई भी संगठन बलपूर्वक मंदिर नहीं खुलवा सकता है। ऐसा होता है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। -चंद्रशेखर दाधीच, सचिव सार्वजनिक प्रन्यास, मंदिर

सब खुले तो ये क्यों बंद : संगठन
कोविड गाइडलाइन के साथ शहर के प्रमुख धर्मस्थलों को खोला जा चुका है तो यह मंदिर क्यों बंद है। ऐसा आपसी राजनीति की वजह से हो रहा है। शहरवासियों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए प्रवेश की अनुमति देनी चाहिए। राजेंद्र परमार, विभाग संयोजक, बजरंग दल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *