भ्रष्टाचार: गरीब के गेहूं खाने वाले 2563 सरकारी कर्मचारियों से 2 करोड़ से अधिक की वसूली, 1041 सरकारी कर्मचारियों को 31 तक राशि जमा कराने का समय



Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

झुंझुनू9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत गरीबों का गेहूं खाने वाले सरकारी कर्मचारियों द्वारा गेहूं अन्तर राशि जमा कराने में लगातार इजाफा हो रहा है। जिले में कुल 2563 सरकारी कर्मचारियों से रसद विभाग एवं उपखण्ड अधिकारी कार्यालय द्वारा 2,28,32,210 करोड़ रूपए राजकोष में जरिये वसूली जमा कराए जा चुके हैं।

शेष रहे 1041 सरकारी कर्मचारियों से राशि वसूलने के लिए उनको 31 मार्च तक का समय दिया गया है। अगर वे नियत समय में राशि जमा नहीं कराते हैं तो उनकेे विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए उनके संबंधित विभाग को प्रकरण भेजकर विधिक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

जिला रसद अधिकारी कपिल झाझडिया ने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में गेहूं का अवैध रूप से उपभोग करने वाले सरकारी कर्मचारियों का रसद विभाग एवं उपखण्ड अधिकारी कार्यालयों द्वारा जिले में सर्वे कराया गया। सर्वे में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत अवैध रूप से गेहूं का उपभोग करने वाले कुल 3604 सरकारी कर्मचारी चिन्हित किए गए, जिन्हें वसूली के लिए नोटिस जारी किए गए हैं।

जिला कलक्टर उमर दीन खान द्वारा उपखण्ड अधिकारियों को भी वसूली के लिए निर्देेशित किया गया है। प्रारम्भ में राजकीय कर्मचारियों द्वारा वसूली राशि जमा करने में रूचि नहीं दिखाई, लेकिन नोटिस देने के साथ विभागीय कार्रवाई की चेतावनी देना शुरू किया तो कर्मचारियों ने भारतीय खाद्य निगम की ईकोनोमिक लागत एवं विभागीय खर्चों के आधार पर अवैध गेहूं उपभोग का 27 रूपए प्रति किलो के हिसाब से राशि जमा कराना शुरू किया।

(रिपोर्ट: मोहम्मद मुस्लिम)

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *