भास्कर इंटरव्यू: BJP से मुख्यमंत्री कौन होगा इसका फैसला पार्लियामेंट्री बोर्ड करेगा, कुछ नेताओं वफादारी साबित करने से कुछ नहीं होगा – गुलाबचंद कटारिया


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • In Rajasthan, There Is A Competition For Loyalty To Vasundhara, But Not With The Desire Of Any Leader, But The Parliamentary Board Will Decide Who Will Be The Chief Minister Gulabchand Kataria

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर21 मिनट पहलेलेखक: स्मित पालीवाल

  • कॉपी लिंक

राजस्थान विधानसभा नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया।

राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने उपचुनाव में बीजेपी की जीत का दावा किया है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश की जनता कांग्रेस सरकार के शासन से परेशान हो गई है। ऐसे में उपचुनाव में जनता कांग्रेस को सबक सिखाएगी। दैनिक भास्कर से बातचीत में कटारिया ने मुख्यमंत्री पद को लेकर बीजेपी में जारी अंदरूनी कलह पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी में किसी नेता के चाहने से नहीं, बल्कि पार्लियामेंट्री बोर्ड के तय करने से मुख्यमंत्री बनता है। और अब तो बिना मुख्यमंत्री के चेहरे के ऐलान के भी चुनाव हो रहे हैं।

  • राजस्थान में उपचुनाव होने जा रहे हैं। बीजेपी कितनी सीटें जीत रही है ?

भारतीय जनता पार्टी ने उपचुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है। मंडल से लेकर शक्ति केंद्र तक पार्टी पदाधिकारियों की बैठक की जा रही है। टिकट के दावेदारों के लिए भी आला नेताओं ने मंथन शुरू कर दिया है। जल्द ही प्रत्याशी चयन के बाद डोर टू डोर कैंपेन भी शुरू कर दिया जाएगा। उपचुनाव में बीजेपी कितनी सीटों पर जीतेगी, यह तो कैंडिडेट का ऐलान होने के बाद ही बता पाऊंगा। लेकिन इस बात का जरूर मुझे विश्वास है कि जनता कांग्रेस के खिलाफ वोट देगी। क्योंकि बीते 2 साल के कार्यकाल में प्रदेश की सरकार ने सिर्फ झूठी घोषणाएं की है। धरातल पर कोई काम नहीं हुआ।

  • क्या बीजेपी में वंशवाद के आधार पर टिकट वितरण होगा। क्या किरण माहेश्वरी की पुत्री दीप्ति राजसमंद से चुनाव लड़ेगी ?

हमारी पार्टी में वंशवाद किसी भी सूरत में नहीं चलेगा। लेकिन स्थानीय स्तर पर जो भी सबसे उपयुक्त उम्मीदवार होगा, उसे पार्टी मौका देगी। उसमें अगर किसी राजनेता के परिवार का भी कोई व्यक्ति योग्य होता है। तो पार्टी उस पर विचार जरूर कर सकती है। लेकिन आखरी फैसला कार्यकर्ताओं के फीडबैक के आधार पर ही होगा। BJP में सिर्फ किरण माहेश्वरी की लड़की होने से किसी को टिकट नहीं दिया जाएगा। राजसमंद का स्थानीय कार्यकर्ता जो चाहेगा उसी के आधार पर पार्टी अपना प्रत्याशी बनाएगी।

  • राजस्थान में वसुंधरा राजे के समर्थन में विधायक बयान बाजी कर रहे हैं। वसुंधरा राजे को मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट करने की मांग हो रही है?

राजस्थान में मुख्यमंत्री पद को लेकर अभी कोई लेना देना ही नहीं है। फिलहाल ऐसा कोई चुनाव ही नहीं है। जिसमें मुख्यमंत्री पद की दावेदारी ही पेश हो सके। इन दिनों सिर्फ कुछ नेताओं का अभियान चल रहा है। जिसमें वह किसके नजदीक और वफादार है। उसे साबित करने की एक होड़ लगी है। हमारी पार्टी में मुख्यमंत्री कौन होगा इसका फैसला कुछ नेता नहीं, बल्कि पार्लिमेंटरी बोर्ड तय करेगा। बीजेपी में बिना मुख्यमंत्री का चेहरा डिक्लेअर किए भी चुनाव लड़े जा रहे हैं। आज मुख्यमंत्री कौन होगा इस पर बात करने का कोई औचित्य ही नहीं। फिलहाल तो बस अपनी नजदीकी शो करने के लिए कुछ नेताओं का अभियान चल रहा है। लेकिन इससे कुछ नहीं होगा, होगा वही जो पार्टी आलाकमान तय करेगा।

  • क्या सतीश पूनिया आपको तवज्जो नहीं दे रहे। आप की बात नहीं मानी जा रही ?

मुझे कभी किसी की तवज्जो की जरूरत नहीं पड़ी। और आगे भी नहीं पड़ेगी। मैं किसी व्यक्ति के लिए नहीं सिर्फ पार्टी के लिए काम करता हूं। और आगे भी करता रहूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *