बड़ी जनहानि टली: फलोदी किले की बुर्ज ढही, दोपहर के भोजन ने बचाई 45 मजदूरों की जान


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फलोदीएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • 600 साल पुराने किले के जीर्णोंद्वार के दौरान हादसा, कोई जनहानि नहीं
  • 2.15 बजे खाना खाने के लिए अडाण से उतर गए थे श्रमिक, 2.30 बजे हो गया हादसा
  • 25 फीट ऊंची बुर्ज, 3 करोड़ 1 लाख 78 हजार 3 सौ रुपए से हो रहा है जीर्णोंद्वार, 25 फीट बन गई थी दीवार

600 साल पुराने फलोदी किले की मरम्मत के दौरान एक बुर्ज रविवार दोपहर करीब ढाई बजे भरभरा कर ढह गई। गनीमत रही कि वहां काम कर रहे 45 मजदूर उस समय खाना खाने के लिए अडाण से नीचे उतरे हुए थे अन्यथा बड़ी जनहानि हो सकती थी।

उल्लेखनीय है कि किले में इन दिनों मरम्मत और विकास के कार्य चल रहे हैं जिसके तहत किले के क्षतिग्रस्त बुर्जों और दीवारों, मीनारों का काम भी शामिल है। इसके लिए सरकार ने 3 करोड़ 1 लाख 78 हजार 3 सौ रुपए का बजट स्वीकृत किया है। गत वर्ष 11 फरवरी को इसके वर्क आर्डर फतेह मोहिनी सप्लायर्स प्राइवेट लि. के नाम से जारी हुए थे और काम भी शुरू हो गया था लेकिन मार्च में कोविड 19 के कारण काम बंद करना पडा और अभी करीब दो माह पूर्व काम दोबारा शुरू हुआ है। निर्माण कार्य 20 फरवरी 2023 तक पूरा करना है। निर्माण कार्य में चूना, बजरी और सुरखी का इस्तेमाल किया जा रहा है। कारण कि ऐतिहासिक इमारतों की मरम्मत में सरिया और सीमेंट का उपयोग प्रतिबंधित है।

डेढ़ महीने पहले शुरू हुआ काम
किले की पश्चिम दिशा में कार्नर का एक बुर्ज पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुका था। डेढ माह पूर्व इसकी मरम्मत शुरू की। करीब 25 फीट तक बुर्ज बनने के बाद यह हादसा हो गया।

धमाके से आसपास के लोग सहमे
किले की बुर्ज दीवार गिरने का धमाका इतना जोर से हुआ कि आसपास की गलियों में लोग घरों से बाहर निकल आए। लगा जैसे कोई विस्फोट हुआ हो। लोगों का जमावड़ा लग गया।

पुरातत्व विभाग: हादसे की जांच शुरू
पुरातत्व विभाग के सुपरिंटेंडेंट जोधपुर इमरान अली ने बताया कि नवनिर्मित दीवार में क्रेकस आने के कारण यह हादस हुआ है। हालांकि इसकी जांच की जा रही है। इसके बाद ही सही कारणों का पता चलेगा।

फर्म की सफाई : पुराने पत्थर खिसक गए
ठेका कंपनी के सुपरवाइजर भीमराज ने बताया कि बुर्ज की दीवार का निर्माण पूर्व में बनी दीवार की नींव के ऊपर ही किया जा रहा था। जमीन लेवल से उठाई गई थी। पुराने पत्थर खिसकने से नई दीवार नीचे गिरी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *