बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका: तीन बच्चों को छोड़ प्रेमी संग गई महिला, पति ने अकेले बच्चों को पालने में जताई असमर्थता, हाईकोर्ट ने मां को नारी निकेतन भेजा


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Woman Left With Boyfriend Leaving Three Children, Husband Expresses Inability To Raise Children Alone, High Court Sends Mother To Nari Niketan

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जोधपुर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • मामले की अगली सुनवाई होगी दस मार्च को

राजस्थान हाईकोर्ट में सोमवार को बंदी प्रत्याक्षीकरण से जुड़े एक अनूठे मामले की सुनवाई हुई। एक महिला अपने तीन बच्चों व पति को त्याग डेढ़ माह पूर्व अपने प्रेमी के साथ चली गई। हाईकोर्ट में पति ने बताया कि वह तीन बच्चों को अकेले पालने में असमर्थ है। वहीं पत्नी बच्चों को रखने को तैयार नहीं हुई। ऐसे में हाईकोर्ट ने महिला को बच्चों के बारे में विचार करने के लिए फिलहाल नारी निकेतन भेजने का आदेश दिया।

प्रताप नगर क्षेत्र में रहने वाली एक महिला ने अपने तीन बच्चों को छोड़ अपने प्रेमी संग रहना शुरू कर दिया। पति ने बंदी प्रत्यक्षीकरण की याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा कि अकेले उसके लिए तीन बच्चों को परवरिश करना बेहद मुश्किल होता जा रहा है। वहीं महिला ने बच्चों के बारे में अपना कोई पक्ष नहीं रखा, लेकिन उसने अपने प्रेमी संग रहने की इच्छा जताई। उससे ऐसा लग रहा था कि वह बच्चों को अपने पास रखने की इच्छुक नहीं है। दोनों पक्षों को सुनने के पश्चात न्यायाधीश संगीत राज लोढ़ा ने बच्चों के बारे दोनों पक्ष को सोचना होगा। देखना होगा कि बच्चों का क्या होगा। ऐसे में उन्होंने महिला को अगली सुनवाई तिथि दस मार्च तक नारी निकेतन भेजने का आदेश दिया। ताकि इस दौरान महिला अपने बच्चों के बारे में कोई फैसला कर सके।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *