प्रोत्साहन: श्रमिकों के स्वर्ण पदक विजेता बच्चों को मिलेगा 11 लाख


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

श्रीगंगानगर20 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में भाग लेने वाले पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों को मिलेंगे पुरस्कार

राज्य सरकार की ओर से श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकाें और उनके बेटे-बेटियाें काे अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियाेगिता में भाग लेने व पदक जीतने पर पुरस्कृत किया जाएगा। यह याेजना निर्माण श्रमिक अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियाेगिता हेतु प्राेत्साहन याेजना कहलाएगी।

इस याेजना का उद्देश्य भवन एवं अन्य संनिर्माण कार्याें में नियाेजित पंजीकृत हिताधिकारियाें तथा उनके बच्चाें काे अंतरराष्ट्रीय खेलाें में सहभागिता के लिए प्राेत्साहित करना है। निरंतर अंशदान जमा कराने वाले श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिक या उनके अविवाहित बेटे-बेटियाें के अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियाेगिता में भाग लेने पर 2 लाख रुपए, कांस्य पदक विजेता काे 5 लाख, रजत पदक विजेता काे 8 लाख व स्वर्ण पदक विजेता काे 11 लाख रुपए की प्राेत्साहन राशि दी जाएगी। इसके लिए प्रतियाेगिता में भाग लेने के 6 महीने की अवधि में विभाग की वेबसाइट www.ldms.rajasthan.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन करना हाेगा। आवेदन पत्र के साथ जरूरी कागजाताें की फाेटाे कापी लगानी हाेगी। ऑनलाइन गेमिंग/ बैटिंग संबंधी प्रति. में भाग लेने वालाें, डाेपिंग के कारण अमान्य घाेषित अथवा जीते गए पदक काे अमान्य/वापस लिए जाने वाले आवेदन के पात्र नहीं हाेंगे।

पात्रता एवं शर्तें

  • इस याेजना के लिए वे निर्माण श्रमिक पात्र हाेंगे, जाे हिताधिकारी के रूप में मंडल में पजीकृत हैं तथा निंरतर अंशदान जमा करा रहे हैं।
  • अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियाेगिता आयाेजित करने वाली संस्था की ओर से डाेपिंग के कारण किसी खिलाड़ी काे अमान्य घाेषित किए जाने अथवा जीते गए पदक काे अमान्य/ वापस लिए जाने की घाेषणा के बाद याेजनांतर्गत काेई प्राेत्साहन राशि देय नहीं हाेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *