प्रताप पर शुरू हुई सियासत: महाराणा प्रताप के अपमान पर बीजेपी ने मांगी माफी, वहीं कांग्रेस ने कहा जनता देगी जवाब


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भाजपा के आला नेताओं के चरणों में रखा महाराणा प्रताप का मोमेंटो।

उदयपुर के वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र के भटेवर में आयोजित भारतीय युवा मोर्चा के सम्मेलन में महाराणा प्रताप के मोमेंटो को राजनेताओं के चरणों में रखने के मामले में अब सियासत तेज होने लगी है। सत्ताधारी कांग्रेस और विभिन्न धार्मिक संगठन भारतीय जनता पार्टी पर महाराणा प्रताप के अपमान का आरोप लगा रहे हैं। वहीं अब बीजेपी के नेताओं ने भी इसे मानवीय भूल करार दिया है।

राजधानी जयपुर में करणी सेना ने इसे महाराणा प्रताप का अपमान बताया है। करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना ने कहा है कि बीजेपी की कथनी और करनी में अंतर है। जनता के सामने बीजेपी महाराणा प्रताप का नाम लेकर वोट मांगती है। लेकिन हकीकत में बीजेपी के नेता महाराणा प्रताप का सम्मान नहीं करते।जबकि उदयपुर के प्रभारी और राजस्थान सरकार के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी इसे बीजेपी का असली चेहरा बताया।

उन्होंने कहा कि इतने बड़े नेताओं की मौजूदगी में महाराणा प्रताप का इतना बड़ा अपमान नहीं होना चाहिए था। महाराणा प्रताप राजस्थान के शौर्य वीरता और इतिहास के परिचायक है। ऐसे में बीजेपी को अब इसकी सजा भुगतनी होगी। खाचरियावास ने कहा है कि उपचुनाव में जनता बीजेपी को इसका करारा जवाब देगी।

वहीं बीजेपी सांसद सीपी जोशी ने इसे मानवीय भूल बताया है। जोशी ने कहा है कि महाराणा प्रताप हम सब के आदर्श हैं। हमने तो पहली बार महाराणा प्रताप के नाम पर डाक टिकट जारी करवाया प्रताप और ऐतिहासिक स्थलों के विकास के लिए लोकसभा में आवाज उठा रहे हैं। यह भूल जानबूझकर नहीं की गई। लेकिन फिर भी मुझे इस पर खेद है और मैं व्यक्तिगत क्षमा मांगता हूं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *