पुलिस पार्षद को उठाने आई तो महिलाओं ने घेरा: अलवर शहर के घोड़ाफेर चौराहे पर रात को प्रशासन पहुंचा, भूख हड़ताल पर बैठे पार्षद को उठाने की कोशिश महिलाओं ने की नाकाम, वापस लौटा प्रशासन


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • The Administration Reached The Night At Ghorfer Intersection Of Alwar City, Women Failed To Try To Raise The Councilor Sitting On Hunger Strike, The Administration Returned

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अलवर14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अलवर शहर में घोड़ाफेर चौराहे पर पार्षद के चारों तरफ बैठी महिलाएं।

  • वार्ड में पानी का संकट का मुद्दा

अलवर शहर में पेयजल समस्या से प्रशासन का जनता से आर-पार का सामना अभी से शुरू हो गया है। एक मार्च से घोड़ाफेर चौराहे पर बैठे कांग्रेस के पार्षद का अनशनु तुड़ाने बुधवार रात को पुलिस-प्रशासन पहुंचा था लेकिन, वार्ड की महिलाएं पार्षद को घेरकर बैठ गई। महिलाएं बोली हमारा पार्षद जनता के लिए भूख हड़ताल पर बैठा है। जबर्दस्ती पुलिस प्रशासन को नहीं ले जाने देंगे। चाहे जान देनी पड़े। पहले प्रशासन को वार्ड 25 में पानी की समस्या का समाधान करना होगा। वार्ड में 3 हजार से अधिक आबादी पानी की समस्या झेल रही है। कोई सुनवाई नहीं होने के कारण पार्षद को भूख हड़ताल पर बैठना पड़ा है। देर रात तक महिलाएं पार्षद को घेर कर बैठी रही। आखिरी में प्रशासन को वापस लौटना पड़ा।

1 मार्च से भूख हड़ताल पर
वार्ड 25 के पार्षद लोचन यादव एक मार्च से भूख हड़ताल पर बैठे हैं। बुधवार रात्रि को पुलिस प्रशासन पहुंचा। पार्षद का हैल्थ चेक कराने के बाद बताया गया कि उनके शरीर में कीटोन का स्तर काफी बढ़ा हुआ है। इस कारण उनको अस्पताल ले जाया जाएगा। जबकि पार्षद ने कहा कि उसे कोई समस्या नहीं है। जब तक उनके वार्ड में पानी की समस्या का समाधान नहीं किया जाएगा वे यहां से नहीं हटेंगे। केवल आश्वासन देने से अनशन नहीं तोड़ूंगा। असल में लोचन यादव कांग्रेस के पार्षद हैं। जबकि अलवर नगर परिषद में कांग्रेस का ही बोर्ड है।

वार्ड 25 में ये क्षेत्र प्रभावित
पार्षद ने बताया कि वार्ड 25 में तंवर कॉलोनी, राजाजी का बास, मेहंदी बाग, करोली कुण्ड, रथ खाना, बलाई बस्ती, बख्त की बावड़ी में पानी की भारी समस्या है। केवल 10 मिनट भी पानी सप्लाई नहीं होता है। जिसके कारण हर दिन करीब तीन हजार से अधिक लोगों को मुश्किलें झेलनी पड़ती है।

ये हैं प्रमुख मांगें
– वार्ड में दो नए बोरवैल की मंजूरी मिले।
– आखिरी छोर तक पानी पहुंचे। रोजाना एक घण्टे की पानी की सप्लाई हो।
– तीन- चार जगह लाइन डालने का कार्य व टंकी से मिलान का काम पूरा किया जाए।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *