नगरपालिका चुनाव: भाजपा-कांग्रेस में प्रत्याशियों को लेकर घमासान, दावेदारों के बीच कड़ा संघर्ष


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चैतन्य मोहन केवलिया | पोकरण22 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • चुनावों को लेकर दोनों पार्टियां प्रत्याशियों की तलाश में जुटी

नगरपालिका चुनावों काे लेकर पोकरण में भाजपा व कांग्रेस ने पार्षद प्रत्याशियों की तलाश शुरू कर दी है। दोनों दलों के नेता चुनावी तैयारी में जुट गए हैं। पंचायतीराज चुनावों में सफलता से भाजपा समर्थक उत्साहित है। वहीं कांग्रेस अपने परंपरागत वोट बैंक पर भरोसा है।

चुनावों की घोषणा के बाद शहर में चुनावी चर्चाएं जोरों पर है। संभावित प्रत्याशियों को लेकर अलग-अलग कयास लगाए जा रहे हैं। भाजपा व कांग्रेस में पार्षद पद के प्रत्याशियों की लंबी सूची है। टिकटों को लेकर दावेदार अभी से तैयारी में जुट गए हैं। वहीं दोनों पार्टियां अपने स्तर पर सर्वे कर जिताऊ प्रत्याशियों की तलाश में है। हालांकि अभी तक एक भी दल ने पत्ते नहीं खोले हैं, लेकिन चुनावी घमासान की सुगबुगाहट शुरू हो चुकी है। पार्षद प्रत्याशियों की दौड़ में शामिल कई नेताओं ने वार्डों में प्रचार-प्रसार भी शुरू कर दिया है। जबकि अभी तक टिकटों की घोषणा भी नहीं हुई है।

माली,गुचिया, रंगा व व्यास नगरपालिका अध्यक्ष पद के प्रमुख दावेदार
पोकरण नगरपालिका अध्यक्ष पद की दौड़ में कांग्रेस से शिवप्रताप माली, नारायण रंगा, आनंदीलाल गुचिया, विजय व्यास, रमेश माली प्रमुख दावेदारों की सूची में शामिल है। वहीं भाजपा की ओर से खेताराम माली, आईदान माली, मनीष पुरोहित, दिनेश व्यास प्रमुख है।

वार्ड आरक्षित होने के कारण अध्यक्ष पद के दावेदारों की मुश्किलें भी बढ़ी
कांग्रेस की ओर से मुख्य दावेदार आनंदीलाल गुचिया को वार्ड तलाशने की जरूरत है क्योंकि उनका वार्ड महिला के लिए आरक्षित हो गया है। इसके अलावा विजय व्यास को भी दूसरा वार्ड ढूंढना पड़ेगा। उनका वार्ड भी ओबीसी के लिए आरक्षित है। भाजपा के दो प्रमुख दावेदार खेताराम माली व आईदान माली एक ही वार्ड से टिकट मांग रहे हैं, यहां शुरूआत में ही घमासान हो सकता है।

चहेतों को टिकट दिलाने की दौड़ शुरू
दोनों ही पार्टियों में नगरपालिका अध्यक्ष पद के दावेदार ज्यादा होने से दोनों ही दलों के सामने बड़ी समस्या यह भी है कि सभी दावेदार अपने-अपने समर्थकों को वार्डों में पार्षद की टिकट दिलवाना चाह रहे हैं ताकि उनके समर्थक आगे चलकर अध्यक्ष पद की दावेदारी में साथ निभा सके। इस वजह से हर वार्ड में पार्षद के दावेदार भी बढ़ गए हैं।

वार्डों में दावदेार प्रचार-प्रसार में भी जुट गए
नगरपालिका के चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों ने कमर कस ली है। वहीं कई वार्डों में नेताओं ने प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है। इसकेे चलते शहर के सभी वार्डों में पालिका चुनाव की चर्चा जोर पकड़ रही है। वहीं वार्डों में जोड़-तोड़ की राजनीति भी शुरू हो गई है। इसकेे चलते सर्दी में भी चुनावी गर्मी बढ़ती जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *