जोधपुर हादसे का दर्द: दिल्ली से हंसते हुए निकले थे 4 परिवार, रास्ते में 5 सदस्यों को खोने के बाद गम लिए दिल्ली हुए रवाना


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीकानेर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दुर्घटना में घायल ऋचा रोहिला फोन पर अपने ससुर से बातचीत करते हुए। उसके हाथ पर टेटू के रूप में विकास का नाम भी लिखा है, जिसकी इस दुर्घटिना में मौत हो गई।

  • जोधपुर के बाप थाना क्षेत्र में शनिवार सुबह एक भीषण सड़क हादसे में दो महिलाओं समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी
  • इस हादसे में 12 लोग घायल हुए थे, जिन्हें उनके परिजन बीकानेर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कराके दिल्ली ले गए

जोधपुर में शनिवार को हुए एक दर्दनाक हादसे ने दिल्ली के 4 परिवारों की खुशियां छीन लीं। जैसलमेर-बीकानेर हाईवे पर सुबह सात बजे एक मिनी बस और ट्रॉले में टक्कर हो गई। इस हादसे में 5 लोगों की मौत हो गई। बस में दिल्ली के रहने वाले 4 परिवारों के लोग थे, जो जैसलमेर घूमने जा रहे थे। शुक्रवार की रात नई दिल्ली के रोहिणी से जब सब रवाना हुए तब हंस रहे थे, मुस्कुरा रहे थे। लेकिन, सुकून की तलाश में राजस्थान आए ये लोग शनिवार देर रात अपनों को खोने का गम साथ लिए दिल्ली रवाना हो गए।

दिल्ली से जैसलमेर आते वक्त रास्ते में सभी ने खूब मौज मस्ती की। इसके बाद सुबह होते-होते सबको नींद आने लगी। इसी दौरान जैसलमेर से कुछ दूरी पर ही थे कि एक ट्रोले ने टक्कर मार दी। इस हादसे ने पांच लोगों को जिंदगी छीन ली। किसी की आंखों में आंसू थे तो किसी की आंखे अपनों को तलाश रही थी। कोई फफक-फफक कर रो रहा था। सबसे बड़ा गम ऋचा रोहिला के लिए था, जाे अपने पति के साथ आई थी, लेकिन जिंदगी का सफर बीच रास्ते में ही खत्म हो गया। उसके पति विकास रोहिला अब दुनिया में नहीं रहे। ऋचा का बेटा विवान भी बार बार पूछ रहा है कि पापा कहां है? लेकिन ऋचा के पास कोई जवाब नहीं है।

4 परिवार दिल्ली से जैसलमेर घूमने जा रहे थे; मृतकों में 2 महिलाएं भी; टक्कर इतनी भीषण थी कि एक का सिर अलग होकर 100 फीट दूर गिरा

लेकिन इस गम के बीच राहत की खबर ये है कि जो 12 लोग घायल हुए थे, वो सब खतरे से बाहर हैं। बीकानर के PBM हास्पिटल के ट्र्रोमा सेंटर में चल रहा था। लेकिन, आज यानी रविवार को घायलों के परिजनों ने सभी को दिल्ली लेकर जाने की बात कही। हॉस्पिटल प्रशासन ने पहले तो मना किया, लेकिन बाद में घायलों ने लिखित में सहमती लेकर सभी की छुट्‌टी कर दी। इसके बाद सभी लोग दिल्ली चले गए।

किसी को चोट आई तो किसी को फेक्चर हुआ
घायलों में शामिल 5 बच्चों को प्राइमरी ट्रीटमेंट की जरूरत थी। जबकि सर्वोत्तम पंचाल, अर्णव पंचाल, अभिनव पंचाल, ऋतु रोहिला, विहान रोहिला, अंकुल चौधरी, आरव चौधरी, संदीप कुमार, कामना, शिवेन, पुलकित जैन को चोट आई थीं। इसमें पुलकित जैन के कंधे में गंभीर चोट आई है, जबकि ऋतु रोहिला के मुंह पर चोट आई। एक अन्य के पैर में फेक्चर हुआ है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *