जिला परिषद उदयपुर: आयोजन समिति सदस्य के चुनाव को लेकर उलझे बीजेपी और कांग्रेस के नेता, जिला प्रशासन ने स्थगित किए चुनाव


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आयोजन समिति सदस्यों के चुनाव प्रक्रिया में आपस में उलझते बीजेपी कांग्रेस के नेता।

उदयपुर जिला परिषद में बुधवार को आयोजन समिति के सदस्यों का चुनाव होना था। लेकिन चुनाव प्रक्रिया को लेकर बीजेपी और कांग्रेस के नेता आमने-सामने हो गए। जिसके बाद चुनाव प्रक्रिया को रद्द कर दिया गया। उदयपुर के अतिरिक्त जिला कलेक्टर ओपी बुनकर ने बताया कि पूर्व निर्धारित नियम अनुसार भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों को 4 वोट डालने के अधिकार दिए गए थे। जिसको लेकर कांग्रेसी सदस्यों ने विरोध कर दिया।

इसके बाद राज्य सरकार से दिशा निर्देश लिए गए और आगामी आदेश तक चुनाव स्थगित कर दिए गए हैं। बुनकर ने बताया कि इससे पहले अब तक बिना मतदान के भी आयोजन समिति के सदस्यों का चुनाव हुआ है। लेकिन बुधवार के दिन दोनों राजनीतिक दल के प्रतिनिधि चुनाव कराना चाह रहे थे। जिसको लेकर विवाद बढ़ा और जिला प्रशासन द्वारा यह फैसला लिया गया है।

वही इस दौरान चुनावी प्रक्रिया को लेकर जिला परिषद में बीजेपी और कांग्रेसी नेता आमने-सामने हो गए। उदयपुर नगर निगम के उपमहापौर पारस सिंघवी ने बताया कि नियमों के विपरीत जाकर कांग्रेस उदयपुर में अपने सदस्यों का निर्वाचन करवाना चाहती थी। लेकिन बीजेपी ने ऐसा नहीं होने दिया। और जिला प्रशासन द्वारा सत्य का साथ दिया गया।

जिसकी वजह से चुनाव स्थगित कर दिए गए हैं। वहीं कांग्रेस ने इसे बीजेपी की ओछी राजनीति करार दिया। कांग्रेसी नेता हितांशी शर्मा ने बताया कि बीजेपी ने सिर्फ माहौल खराब करने के लिए आज इस तरह की राजनीति की। जिसकी वजह से उदयपुर की जनता को परेशान होना पड़ा। जबकि आज निष्पक्ष और नियम अनुसार चुनाव प्रक्रिया पूरी होनी चाहिए थी।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *