जयपुर में नवाचार: शहर पुलिस लाइन में तैयार हो रहा है आदर्श बैरक, आवंटन के लिए स्वच्छता रखने और शराब का सेवन नहीं करने की होंगी शर्तें


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Ideal Barracks Are Being Prepared In The Jaipur City Police Line, There Will Be Conditions For Keeping Sanitation For Allocation

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुरएक मिनट पहलेलेखक: विष्णु शर्मा

  • कॉपी लिंक

चांदपोल स्थित शहर पुलिस रिजर्व लाइन, जहां पुलिसकर्मियों के लिए आदर्श बैरक का निर्माण करवाया जा रहा है

  • जयपुर शहर के चांदपोल में है रिजर्व पुलिस लाइन, फरवरी के अंतिम सप्ताह तक होगा निर्माण पूरा
  • आदर्श बैरक में रहने वाले पुलिसकर्मियों से 100 रुपए प्रतिमाह लिया जाएगा मेंटेनेंस चार्ज

चांदपोल स्थित शहर रिजर्व पुलिस लाइन में रहने वाले पुलिस कर्मियों के लिए आदर्श बैरक का निर्माण करवाया जा रहा है। जो कि तमाम सुविधाओं से युक्त होगा। इसके रखरखाव और संभाल का पूरा जिम्मा भी उस बैरक में रहने वाले पुलिसकर्मियों पर होगा। प्रदेश के डीजीपी एमएल लाठर की ओर से पुलिस के जवानों को रहने के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए किए जा रहे आदर्श बैरक का निर्माण शुरु करवाया गया है।

फरवरी के अंतिम सप्ताह तक तैयार होगा, पुलिसकर्मियों को शर्त के साथ मिलेगी आदर्श बैरक

जयपुर कमिश्नरेट में डीसीपी (मुख्यालय) डॉ.अमृता दुहन ने बताया कि आदर्श बैरक का काम फरवरी माह के अंतिम सप्ताह तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद पुलिस लाइन में रहने वाले पुलिसकर्मियों को कुछ शर्तों के साथ आदर्श बैरक उपलब्ध करवाई जाएगी। इस बैरक में रहने वाले पुलिसकर्मियों को कुछ शर्तों का पालन करना होगा। जैसे कि वे बैरक में अनुशासन भंग नहीं करेंगे। वहां शराब नहीं पीयेंगे।दीवारों को खराब नहीं करेंगे और साफ-सफाई को बनाकर रखेंगे।

पुलिस कर्मियों से लिया जाएगा आदर्श बैरक के लिए मेंटेनेंस चार्ज

डॉ.अमृता दुहन ने बताया कि आदर्श बैरक में रहने वाले पुलिस कर्मियों से 100 रुपए प्रतिमाह प्रति व्यक्ति मेंटेनेंस चार्ज लिया जाएगा। इससे बैरक की साफ-सफाई, रखरखाव और अतिरिक्त सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। इस मेंटेनेंस चार्ज को जमा करने के लिए पुलिस लाइन की तरफ से बैंक में खाता खोला जाएगा। इकट्‌ठा फंड को इसी खाते में जमा करवाया जाएगा।

बैरक में एक हेडकांस्टेबल वार्डन नियुक्त होगा, हर महीने बैरक का निरीक्षण कर रेटिंग देंगे अफसर

एडिशनल डीसीपी पुलिस लाइन की स्वीकृति पर ही उस बैंक खाते से बैरक के मेंटेनेंस के लिए फंड का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके अलावा आदर्श बैरक में एक हेड कांस्टेबल को वार्डन नियुक्त किया जाएगा। वह बैरक में साफ-सफाई, रखरखाव और बैरक में रहने वाले पुलिसकर्मियों की जानकारी रखेगा। आदर्श बैरक में एक से अधिक हॉल होने पर एक हॉल मॉनिटर भी नियुक्त किया जाएगा। हर महीने आदर्श बैरक का निरीक्षण भी पुलिस कमिश्नरेट के अधिकारियों द्वारा किया जाएगा। उसे पांच अलग-अलग श्रेणियों उत्कृष्ट, बहुत अच्छा, अच्छा, औसत व खराब के आधार पर परखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *