जयपुर जिला: तेज रफ्तार कार बेकाबू होकर पलटी और 50 फीट दूर गिरी, चालक सहित दो युवकों की मौत, तीसरा घायल


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

जयपुर जिले के गोविंदगढ़ कस्बे में घटनास्थल पर खड़ी क्षतिग्रस्त गाड़ी। जिसके पलटने से चालक सहित दो जनों की मौत हो गई। जबकि तीसरा घायल हो गया।

  • गोविंदगढ़ कस्बे में बीती देर रात चौमूं-महलां मेगा हाईवे पर हुई दुर्घटना
  • तेज घुमावदार मोड़ पर नहीं लगे है संकेतक, ब्रेक लगाने से बेकाबू हुई कार

गोविंदगढ़ कस्बे में मंगलवार देर रात को चौमूं – महला मेगा हाईवे पर एक तेज रफ्तार महिंद्रा TUV कार बेकाबू होकर पलटी खा गई। यह हादसा गोरी का बास गांव के पास एक खतरनाक घुमाव पर हुआ। हादसे का पता चलने पर राहगीरों की मदद से पुलिस ने क्षतिग्रस्त कार में फंसे तीनों घायलों को चौमूं अस्पताल पहुंचाया। इनमें चालक सहित दो जनों ने दम तोड़ दिया। जबकि तीसरा घायल हो गया। उसका अस्पताल में उपचार चल रहा है।

गोविंदगढ़ थाना पुलिस के अनुसार दुर्घटना में कार मालिक राधेश्याम जाट (40 ) निवासी प्रगति नया बास मंडा गोविंदगढ़ और शशि मीणा (35) निवासी डोला का बास, गोविंदगढ़ थाना गोविंदगढ़ की मौत हो गई। इसके अलावा डोला का बास के रहने वाला जयपाल मीणा घायल हो गया। उसका चौमूं के एक निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। उसके दोनों पैर फ्रेक्चर होना बताया गया है।

इस तरह हुआ हादसा

पुलिस के मुताबिक राधेश्याम अपने साथी शशि मीणा और जयपाल के साथ मंगलवार रात करीब 11:30 बजे मंडा रीको की तरफ जा रहा था। तभी कार पलटने से हादसा हो गया। इसके बाद तेज रफ्तार का कई पलटी खाते हुए सड़क से करीब 50 फीट दूर जाकर रुकी। जिससे कार पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। इसमें सवार शशि और चालक राधेश्याम की मौत हो गई। दुर्घटना में जान गंवाने वाला राधेश्याम मुर्गी पालन करता था। उसका पोल्ट्री फाॅर्म था। वहीं, शशि मीणा फर्नीचर बनाने का काम करता था।

हादसे के बाद ग्रामीणों में आक्रोश, बोले- घुमाव में नहीं लगे हैं संकेतक

हादसे के बाद मौके पर काफी ग्रामीण इकट्ठा हो गए। स्थानीय निवासी जयसिंह मीणा ने बताया कि जिस घुमाव पर कार पलटी है। वहां पर कोई संकेतक बोर्ड नहीं लगा है। इससे तेज गति से आने वाले वाहनों को जानलेवा घुमाव का पता नहीं चलता है। वहीं, बबूल के पेड़ भी सड़क की तरफ झुके हुए हैं। इस रोड पर काफी संख्या में गड्ढे पड़े हुए हैं। ऐसे में गड्ढों को बचाने के चक्कर में भी वाहन अनियंत्रित हो जाता है। गड्ढों के कारण आए दिन हादसे होते रहते हैं, लेकिन संबंधित विभाग इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

घटनास्थल का मुआयना करने पहुंचे गोविंदगढ़ पुलिस थाना प्रभारी रामकिशोर शर्मा ने बताया खतरनाक मोड़ होने व सड़क पर अत्यधिक ढलान के कारण कार के अचानक ब्रेक लगाने पर ज्यादातर हादसे होते हैं। ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है कि इस खतरनाक मोड़ पर दोबारा मरम्मत कर इस ढलान को सही करवाया जाए, ताकि हादसों से निजात मिल सके।

रिपोर्ट एवं फोटो: बाबूलाल राठी

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *