छोटी कंपनियां, बड़ा जोश: SME ने बढ़ाया मार्च तिमाही में भर्तियों पर जोर, 19% छोटी कंपनियों ने बनाया हायरिंग का प्लान


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

18 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • 19% मझोले उद्यम मार्च तिमाही में भर्तियों पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं, दिसंबर तिमाही में ऐसे उद्यम सिर्फ 15% थे
  • 34% बड़ी कंपनियों ने अंतिम क्वॉर्टर में हायरिंग करने का प्लान बनाया है, दिसंबर क्वॉर्टर में इनका पर्सेंटेज 27% था

अर्थव्यवस्था की हालत में जैसे-जैसे सुधार हो रहा है, वैसे-वैसे जॉब मार्केट में भी गहमागहमी बढ़ रही है। नई भर्तियों की प्लानिंग करने वाले छोटे और मझोले उद्यमों (SME) की संख्या में तिमाही दर तिमाही इजाफा हो रहा है। दिसंबर तिमाही के मुकाबले मार्च तिमाही में डेढ़ गुना छोटे उद्यमों ने हायरिंग की प्लानिंग की है। यह जानकारी ह्यूमन रिसोर्स प्रोवाइडर टीमलीज की हालिया एंप्लॉयमेंट आउटलुक रिपोर्ट से मिली है। टीमलीज ने इसे 429 छोटे, 261 मझोले और 125 बड़ी कंपनियों से मिली जानकारी पर तैयार किया है।

19% छोटे ​​​​​​और मझोले उद्यमों ने बनाया मार्च तिमाही में भर्तियों का मन

रिपोर्ट के मुताबिक मौजूदा वित्त वर्ष की मार्च तिमाही में 19% छोटे उद्यमों ने हायरिंग करने की योजना बनाई है। यह आंकड़ा कम लग सकता है लेकिन पिछली यानी दिसंबर तिमाही का डेढ़ गुना है। दिसंबर तिमाही में सिर्फ 13% छोटे उद्यमों ने ही भर्तियों की योजना बनाई थी। जहां तक मझोले उद्यमों की बात है तो, उनमें से 19% मार्च तिमाही में भर्तियों के बारे में गंभीरता से सोच रहे हैं। दिसंबर तिमाही में ऐसे मीडियम एंटरप्राइजेज 15% ही थे, जिन्होंने हायरिंग की प्लानिंग की हुई थी।

मार्च क्वॉर्टर में 34% बड़ी कंपनियों ने भर्तियों की योजना बनाई

मार्च तिमाही के लिए हायरिंग की प्लानिंग करने वाले छोटे और मझोले उद्यम कदमताल कर रहे हैं तो बड़ी कंपनियां भी पीछे नहीं हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, इस तिमाही में 34% बड़ी कंपनियों ने भर्तियों की योजना बनाई है, जिनका प्रतिशत पिछली तिमाही में 27% था। मार्च तिमाही में हायरिंग की प्लानिंग वाले मीडियम एंटरप्राइजेज का पर्सेंटेज छोटे उद्यमों के बराबर और बड़ी कंपनियों से कम जरूर है। लेकिन इनके आंकड़ों में बढ़ोतरी बताती है कि अनलॉक फेज के दौरान देश में कारोबारी हालत लगातार सुधरी है।

41% ई-कॉमर्स कंपनियां और टेक स्टार्टअप दिखा रहीं हायरिंग में इंटरेस्ट

अगर हायरिंग प्लान वाली कंपनियों को सेक्टर के हिसाब से देखें तो सबसे ज्यादा बढ़ोतरी ई-कॉमर्स और टेक्नोलॉजी स्टार्टअप में रही है। इस सेक्टर की 41% स्टार्टअप मार्च तिमाही में हायरिंग करने जा रही हैं जबकि दिसंबर तिमाही में इनका पर्सेंटेज 31% था। गौरतलब है कि देश की दिग्गज ईकॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने कथित तौर पर 2021 में 300 ग्रेजुएट्स को हायर करने की योजना बनाई है। फूड एग्रीगेटर कंपनी स्विगी ने पीएम स्वनिधि योजना के तहत देश के 125 शहरों में लगभग 36,000 स्ट्रीट फूड वेंडर्स को अपने नेटवर्क में जोड़ने का फैसला किया था।

UI, UX, VR प्रोफेशनल्स की डिमांड में 40% की उछाल

टीमलीज की रिपोर्ट के मुताबिक यूजर इंटरफेस (UI ), यूजर एक्सपीरियंस (UX) डेवलपर्स, वेब डिजाइनर, वर्चुअल रियल्टी (VR) एक्सपर्ट, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस डिजाइनर और एक्सपर्ट की डिमांड में तिमाही आधार पर 40% की उछाल आई है। जिन स्किल सेट वालों की डिमांड में ज्यादा बढ़ोतरी हुई है, उस ग्रुप में इंफ्रास्ट्रक्चर आर्किटेक्ट, साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट और स्पेशल एनालिस्ट भी शामिल हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पायथन और स्विफ्ट जैसे एडवांस सॉफ्टवेयर लैंग्वेज जानने वालों की मांग से इस सेक्टर में जॉब बढ़ रही है।

40% कंपनियां ऑफर करने वाली हैं ब्लू कॉलर जॉब

टीमलीज के सर्वे में शामिल 29% कंपनियों ने सेल्स प्रोफेशनल्स हायर करने की योजना बनाई है। 40% कंपनियां शारीरिक मेहनत वाले काम के लिए ब्लू कॉलर जॉब्स ऑफर करने वाली हैं। 24% कंपनियां IT प्रोफेशनल्स और 23% कंपनियां मार्केटिंग रोल में टैलेंट ढूंढ रही हैं।

ज्यादातर सेक्टर की कंपनियों की हायरिंग में दिलचस्पी अच्छी खबर

टीमलीज की को-फाउंडर और एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट ऋतुपर्णा चक्रवर्ती कहती हैं, ‘ज्यादातर सेक्टर की कंपनियों के हायरिंग में दिलचस्पी दिखाने का मतलब कारोबार जगत पटरी पर आ रहा है। ये संकेत उत्साह बढ़ाने वाले हैं लेकिन कोविड-19 से पहले वाली स्थिति आने में कितना समय लगेगा, इस बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *