छाप रहे थे नोट: खुलेआम लोगों को बता रहे थे कागज को नोटों में कैसे बदला जाएं, पुलिस ने पकड़ा


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जोधपुर9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जोधपुर में शनिवार को खुलेआम कागज पर नोट प्रिंट करते पकड़े गए तीन युवक।

  • कागज, स्याही, कटोरी थाली के साथ तीन शातिर ठगों को पकड़ा

शहर की प्रतापनगर पुलिस ने एक ऐसे ठग गिरोह को पकड़ा है जोकि कागज को नोटों में बदलने की स्कीम लोगों को बता रहा था। पुलिस को देखकर भागने लगे तब दबोच लिया गया। अब पुलिस इनसे गहन पूूछताछ कर रही है। इनके पास से बड़ी मात्रा में कागज, स्याही, थाली कटोरी आदि सामग्री मिली है। धोखाधड़ी मे केस पुलिस की तरफ से दर्ज किया गया है।

प्रतापनगर पुलिस थाने के एसआई रामकृष्ण ने बताया कि वे गश्त पर थे। तब कायलाना रोड स्थित एक होटल से आगे कुछ लोगों की संदिग्ध गतिविधियां नजर आई। तब वहां पर तीन शख्स मिले। जोकि लोगों को कागज पर नोट उकेरने की कला सीखा रहे थे। वे कागज से सौ सौ का नोट बनाना बता रहे थे। संदेह है कि कुछ लोगों से इसके लिए रुपए भी लिए होंगे।

एसआई रामकृष्ण के मुताबिक पुलिस ने वहां से फलोदी तहसील के लोर्डिया हाल ए-26 कमला नेहरू नगर निवासी गिरधारीलाल पुत्र किशनगोपाल रंगा, कबीर नगर स्थित मदिना मस्जिद के पास में रहने वाले सुल्तान पुत्र मुस्ताक खां एवं ओसियां तहसील के जैन मंदिर के पास में रहने वाले सत्यनारायण सोनी पुत्र जगदीश सोनी को गिरफ्तार किया गया। इनके खिलाफ धोखाधड़ी में केस बनाया गया है। केस एसआई रामकृष्ण की तरफ से ही दर्ज किया गया है।

ऐसे छापते थे नोट

पूछताछ व आरंभिक जांच में पता लगा कि ये लोग राह चलते लोगों को कागज पर नोट बनाने की स्कीम बताते थे। ये लोग पहले कागज को धागे में लपेटते फिर स्याही में डूबाते थे। कागज पर नोट को भी लपेटा जाता और वह हुबहू प्रिंट हो जाता है। इसके लिए वे स्याही या केमिकल के साथ ही थाली, कटोरी का भी उपयोग ले रहे थे। उनके पास से पुलिस ने स्याही या केमिकल आदि सामग्री को जब्त किया है। फिलहाल तीनों से प्रकरण को लेकर पूछताछ चल रही है। आगे की जांच एसआई प्रहलाद सिंह की तरफ से की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *