ग्रामीण बैंक लूट मामला: फायरिंग करके बैंक लूटने वाले दो युवकों की गिरफ्तारी के बाद तीसरा भी पुलिस की पकड़ में आया


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीकानेर3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बैंक लूट मामले में इन दो युवकों को पहले बापर्दा गिरफ्तार किया गया था। फाइल फोटो

यहां मुक्ता प्रसाद नगर में चार जनवरी को राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक में दस लाख से अधिक रुपए लूटने के मामले में तीसरा अभियुक्त भी पुलिस की पकड़ में आ गया है। दो युवकों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है, जिनसे सख्ती से पूछताछ करने पर तीसरे का नाम सामने आया।

पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा के निर्देश पर बनी टीम ने धीरज नाम के दो युवकों को गिरफ्तार किया था। पड़ताल में पता चला था कि एक और युवक इस घटना में शामिल था। गिरफ्तार युवकों ने बताया कि तीसरा व्यक्ति गुरमीत सिंह था। पुलिस टीम को इसके पीछे लगाया गया। फोन कॉल सहित अन्य तकनीकी माध्यमों से गुरमीत सिंह का पता लगाया गया। बुधवार को उसे गिरफ्तार किया गया। हाल फिलहाल उसे बापर्दा पेश करने की तैयारी हो रही है। इस मामले को खोलने में साइबर सेल की महत्वपूर्ण भूमिका रही। साइबर सेल के दीपक यादव की रिपोर्ट्स ने अपराधियों तक पहुंचने में काफी सहयोग किया।

क्या है मामला

चार जनवरी की शाम धीरज नाम के दो युवक और गुरमीत सिंह ने मिलकर मुक्ता प्रसाद नगर स्थित राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक में पहुंचकर फायरिंग की और दस लाख रुपए लूट लिए। इस दौरान बैंक मैनेजर के सिर में छर्रे लगने से वो घायल हो गया। बैंक अधिकारी लक्ष्मी वर्मा ने इस आशय का मामला थाने में दर्ज कराया था। घटना के बाद पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने इस मामले में काफी मेहनत के बाद सर्वोदय बस्ती में रहने वाले धीरज और मुक्ताप्रसाद नगर में रहने वाले धीरज को गिरफ्तार किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *