किसान आंदोलन: कांग्रेस विधायक रीटा चौधरी के नेतृत्व में ट्रैक्टर रैली निकाली गई, किसान महापंचायत की तैयारियां भी तेज


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

झुंझुनूं11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ट्रैक्टर चलातीं विधायक रीटा चौधरी।

कृषि कानूनों के विरोध में लंबे समय से चल रहे किसान आंदोलन का अब जिले में प्रभाव नजर आने लगा है। किसानों के समर्थन में रविवार को शहर में ट्रैक्टर रैली निकाली गई। इसमें मंडावा विधायक रीटा चौधरी भी शामिल हुई। गौरतलब है कि ये ट्रैक्टर रैली केवल मंडावा विधानसभा क्षेत्र के किसानों की है। इससे पहले शनिवार को झुंझुनूं के सभी प्रमुख हाईवे को किसानों ने टोल मुक्त कर दिए था।

रैली शहर के पीपली चौक से मंडावा मोड़ रोड होते हुए नेहरु पार्क तक निकाली गई। इस दौरान विधायक रीटा चौधरी ने भी ट्रैक्टर चलाया। वहीं, साथ में गाड़ियों का लंबा काफिला मौजूद रहा।

2 मार्च को होने वाली किसान महापंचायत में शामिल हो रहे संगठन

वहीं, झुंझुनूं सर्व समाज लोकतांत्रिक मंच ने रविवार को शिक्षक भवन में प्रेस वार्ता कर 2 मार्च हो रही किसान महापंचायत में भाग लेने का निर्णय किया। इस दौरान यमुना जल संघर्ष समिति के संयोजक डॉ यशवर्धन सिंह ने कहा कि कॉर्पोरेट घराने के दबाव में तीनों कानून बनाए गए हैं। जिससे कि किसान और उपभोक्ता दोनों बर्बाद हो जाएंगे। देश भुखमरी की तरफ अग्रसर होगा। दूसरी हरित क्रांति का सपना साकार नहीं होगा।

ट्रैक्टर के साथ रैली में गाड़ियों का लंबा काफिला मौजूद रहा।

ट्रैक्टर के साथ रैली में गाड़ियों का लंबा काफिला मौजूद रहा।

कलेक्ट्रेट पर किसानों का धरना जारी रहा
कलेक्ट्रेट पर किसानों का धरना 80 वें दिन जारी रहा। इस दौरान वक्ताओं में गणपत सिंह, शशिकांत, पोकर सिंह झाझड़िया, शुभकरण महला, हरफूल सिंह बलाैदा, यूनुस अली भाटी, उम्मेद सिंह पूनिया, रामेश्वरलाल, डाॅ. अनिल खीचड़, महेश चौमाल, राजेंद्र बेनीवाल, महीपाल सिंह बाबल ने विचार व्यक्त किए।

(रिपोर्ट- एमडी मुस्लिम)

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *