कांग्रेस की राजनीति: बीकानेर के धनेरु से कौनसा निशाना साधने की तैयारी में है अशोक गहलोत, सुजानगढ़ चुनाव या फिर किसान ?


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Trying To Hit Many Targets With One Stone At The Chief Minister’s Meeting In Dhaneru, Bikaner, A Crowd Will Have To Be Challenged

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीकानेर32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

धनेरू में सभा की ओर जाने वाली टूटी सड़कों को दुरुस्त किया जा रहा है। फोटो : विशाल स्वामी

श्रीडूंगरगढ़ के धनेरु में शनिवार को आयोजित होने वाला किसान सम्मेलन एक तीर में कई निशाने जैसा है। इस सम्मेलन के माध्यम से कांग्रेस एक तरफ तो चूरू में होने वाली सुजानगढ़ सीट को साधना चाहती है तो दूसरी तरफ किसानों के साथ खड़े होने का संदेश भी देना चाहती है। राजनीतिक विशेषज्ञों की माने तो अशोक गहलोत इसी रैली के माध्यम से सचिन पायलट के हाल ही में हुए शक्ति प्रदर्शन का जवाब भी इसी सम्मेलन से देना चाहते हैं।

सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र की चुनावी रैली

यह सम्मेलन कहने को बीकानेर में आयोजित हो रहा है लेकिन इसकी सीमा चूरू के सूजानगढ़ विधानसभा से सटी हुई है। सूजानगढ़ में ही उपचुनाव होने वाले हैं, जहां से कांग्रेस के भंवरलाल मेघवाल विधायक थे। यह भी कहा जा सकता है कि सभा तो बीकानेर के धनेरू में हो रही है लेकिन सभा में आने वाले वाहनों की पार्किंग सूजानगढ़ में की जा सकती है। इस विधानसभा के दो प्रमुख कस्बों में एक बीदासर यहां से महज 14 किलोमीटर दूर है तो दूसरा कस्बा सांडवा महज 19 किलोमीटर दूर है। वहीं इसी विधानसभा में आने वाले गांव तो पैदल पहुंचने जितनी दूरी पर ही है। इस रैली में सर्वाधिक लोग इसी क्षेत्र से आने की उम्मीद की जा रही है।

तीन जिलों के किसानों काे संदेश

किसान सम्मेलन के माध्यम से कांग्रेस बीकानेर के अलावा नागौर और चूरू के किसानों को भी संदेश देना चाहती है। सभा स्थल से नागौर का लालगढ़ जहां पचास किलाेमीटर की दूरी पर है, वहीं बीकानेर का श्रीडूंगरगढ़ भी इतनी ही दूरी पर है। इसके अलावा नोखा 95 किलोमीटर और जसरासर 55 किलोमीटर की दूरी पर है। इन सभी स्थानों से किसानों को सभा स्थल पर ले जाने की तैयारियां हो रही है।

सचिन के शक्ति प्रदर्शन का जवाब

यह भी माना जा रहा है कि अशोक गहलोत के समर्थक धनेरु में बड़ा शक्ति प्रदर्शन करके सचिन पायलट की हाल ही में हुई रैली का जवाब देना चाहते हैं। हालांकि इसमें सबसे बड़ी समस्या यह है कि धनेरु तक पहुंचने वाले रास्ते बहुत दुर्गम है। निकटवर्ती सुजानगढ़ से तो बड़ी संख्या में लोग आ जायेंगे लेकिन बीकानेर के सबसे नजदीक चुनाव के कारण सुजानगढ़ से टिकट दावेदार सबसे ज्यादा भीडृ कर सकते हैं। जिसमें भंवरलाल मेघवाल के बेटे सर्वाधिक सक्रिय है।

मुख्यमंत्री के लिए हेलीपेड तैयार

सभास्थल के पास ही हेलीपेड तैयार किया गया है, जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ ही प्रभारी अजय माकन और प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द डोटासरा पहुंचेंगे। जिला कलक्टर नमित मेहता और पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने गुरुवार को ही सभा स्थल का दौरा करके तैयारियां का निरीक्षण किया। इस दौरान रास्ते में टूटी सड़कों की मरम्मत करने के आदेश दिए।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *