एग्रीकल्चर पर फोकस: अगले साल से कृषि का अलग से बजट, कृषि बिजली के लिए अलग से बिजली कंपनी, कमर्शियल बैंकों से कर्ज लेने वाले किसानों के वन टाइम सेटलमेंट से कर्ज माफ होंगे


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • From Next Year, A Separate Budget For Agriculture, A Separate Electricity Company For Agricultural Electricity, A One time Settlement Of Farmers Who Take Loans From Commercial Banks Will Be Forgiven.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • अब किसानों के बिजली बिल दो माह से आएंगे ,मुख्यमंत्री कृषि साथी योजना शुरु होगी

राज्य के बजट में खेती किसानी पर खास जोर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने अगलने साल से कृषि बजट अलग से पेश करने की घोषणा की है, आम बजट के साथ ही अलग से कृषि बजट पेश किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने किसानों को खेती की बिजली के लिए अलग से कृषि बिजली वितरण कंपनी बनाने की घोषणा की है, इस डेडिकेटेड बिजली कंपनी से खेती की बिजली का वितरण और मैनेजमेंट होगा। वन टाइम सैटलमेंट के जरिए कमर्शियल बैंकों से किसानों का कर्ज माफ, इस साल 16 हजार करोड़ का ब्याज मुक्त फसली कर्ज वाणिज्यक बैंकों से कर्ज लेने वाले किसानों का वन टाइम सैटलमेंट के जरिए कर्ज माफ करवाने की घोषणा की है। 3 लाख नए किसानों को कर्ज मिलेगा, इस योजना में पशुपालकों और मत्स्य पालकों को भी शामिल किया जाएगा।

मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना शुरु होगी
सीएम ने किसानों को सीधा फायदा देने के लिए मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना शुरु करने की घोषणा की है। इस योजना के तहत 5 लाख किसानों को उन्नत बीज उपलब्ध करवाने के साथ कई सुविधाएं दी जाएंगी। 3 लाख किसानों ंको बायो फर्टिलाइजर दिए जाएंगे। एक लाख किसानों को कंपोस्ट यूनिट, 30 हजार किसानों को फार्म पॉन्ड बनाए जाएंगे। 1.20 लाख किसानों को स्प्रिंकलर दिए जाएंगे। 120 फार्मर प्रोड्यूसर आॅर्गेनाइजेशन बनाए जांएगे।

9 जिलों में मिनी फूड पार्क बनेंगे, मथानिया में मेगा फूड पार्क
पाली, नागौर, बाड़मेर, जैसलमेर, जालोर, सवाई माधोपुर, करौली, बीकानेर, दौसा जिलों में 200 करोड़ रुपये की लागत से मिनी फूड पार्क बनाये जायेंगे। साथ ही, मथानिया-जोधपुर में लगभग 100 करोड़ की लागत से मेगा फूड पार्क स्थापना जाएगी।

एग्रीकल्चर सैकटर के लिए ये बड़ी घोषणाएं

  • 3 वर्षों में 125 करोड़ रुपए की लागत से भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केंद्रों में 1000 किसान सेवा केन्द्रों का निर्माण होगा
  • कृषि पर्यवेक्षकों के एक हजार नए पद सृजित होंगे
  • कृषि बिजली के लिए 16 हजार करोड़ से ज्यादा की सब्सिडी
  • बीपीएल, छोटे घरेलू उपभोक्ताओं ,किसानों के बिजली बिल अब एक माह की जगह दो माह से आएंगे
  • 50 हजार किसानों को नए कनेक्शन की घोषणा।
  • मंडियो में सड़क निर्माण, ऑनलाइन करने की घोषणा
  • डूंगरपुर, हनुमानगढ़ व बूंदी में नए कृषि महाविद्यालय
  • राज्य में नए दुग्ध संकलन के साथ ही प्राथमिक उत्पादक संघ के रूप में स्थापित करने की घोषणा
  • पशुपालकों को उनके घर पर आपातकालीन सुविधा के लिए 108 एंबुलेंस की तर्ज पर 102 मोबाइल सेवा की घोषणा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *