उदयपुर पहुंचे केंद्रीय मंत्री: अर्जुन राम मेघवाल ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- उपचुनाव में प्रदेश की जनता सिखाएगी सबक


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल।

  • कृषि कानून में कुछ विवादास्पद नहीं: अर्जुन राम मेघवाल
  • ‘कांग्रेस का चुनावी वादा किसानों का कर्ज माफ अब तक पूरा नहीं हुआ’

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल रविवार को अपने अल्प प्रवास पर उदयपुर पहुंचे। जहां उन्होंने केंद्र सरकार के बजट को ऐतिहासिक बताया। वहीं प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर भी जमकर निशाना साधा। मेघवाल ने कहा कि आने वाले वक्त में होने जा रहे उपचुनाव में कांग्रेस को करारी शिकस्त मिलेगी।

उपचुनाव में बीजेपी को सभी सीटों पर मिलेगी जीत

केंद्रीय मंत्री मेघवाल ने कहा कि राजस्थान में होने जा रहे उपचुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी भारी अंतर से चुनाव जीतेंगे। केंद्र सरकार की नीति और प्रदेश सरकार की विफलता के आधार पर बीजेपी चुनाव में उतरेगी। और इसी मुद्दे पर आम जनता से वोट मांगे जाएंगे। मेघवाल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की कथनी और करनी में अंतर है। जो प्रदेश की जनता बीते 2 साल में समझ चुकी है। ऐसे में आने वाले वक्त में उदयपुर के वल्लभनगर, राजसमंद, सहाड़ा और सुजानगढ़ में बीजेपी के प्रत्याशी को जीत मिलेगी।

संसद में तवज्जो नहीं मिली इसलिए राजस्थान आ गए राहुल गांधी
अर्जुन राम मेघवाल ने राहुल गांधी के दौरे पर भी कटाक्ष किया। मेघवाल ने कहा कि राहुल गांधी को संसद में तवज्जो नहीं मिल रही थी। जिससे परेशान होकर राहुल गांधी दौरे पर आ गए। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी किसानों की बात करते हैं। जबकि कांग्रेस का चुनावी वादा किसानों का कर्ज माफ अब तक पूरा नहीं हुआ है। जिससे कांग्रेस की कथनी और करनी का अंतर साफ जाहिर होता है। इस दौरान मेघवाल ने कहा कि राजस्थान में रॉबर्ट वाड्रा जमीन घोटाले की जांच चल रही थी लेकिन राहुल गांधी उस मामले पर नहीं बोलते हैं।

किसानों के साथ जल्द वार्ता के बाद समाधान होगा
केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कृषि कानून को लेकर हो रहे विरोध पर कहा कि मुझे लगता है जल्द ही वार्ता के बाद सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। मेघवाल ने कहा कि कृषि कानून में कुछ विवादास्पद नहीं है। हमने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू किया था। जिसकी मांग पिछले लंबे समय से उठ रही थी। लेकिन विपक्ष के कुछ नेताओं द्वारा किसानों को बरगला कर इस पर विरोध करवाया गया। जो अब ज्यादा लंबे वक्त तक नहीं चलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *