आगे भी मोदी के नाम पर वोट मिलेंगे: भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष चतुर्वेदी ने पार्टी के चेहरे को लेकर बिना किसी का नाम लिए पूर्व मुख्यमंत्री के कार्यों की तारीफ की


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Former BJP State President Arun Chaturvedi Did Not Take Any Name Regarding The Face Of The Party But, Pointing To Vasundhara After Praising The Actions Of The Previous Government

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अलवर9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी।

भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में भी राजस्थान में मोदी के नाम पर ही वोट मिलेंगे। हालांकि उन्होंने वसुंधरा राजे के दो बार के मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान हुए विकास के कार्यों की तारीफी की। चतुर्वेदी ने सीधे तौर पर तो भाजपा के प्रदेश के मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर कुछ नहीं कहा। लेकिन, मुख्यमंत्री के तौर पर वसुंधरा राजे के कार्य की सराहना कर इशारा जरूर किया है। चतुर्वेदी रविवार को अलवर में आस्था साहित्य संस्थान की ओर से आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने आए थे। इस दौरान शहर विधायक संजय शर्मा भी उनके साथ रुके रहे।

सवाल : क्या भाजपा पार्टी में अब दो ही बड़े चेहरे बचे हैं। आप इन दोनों में से किसी को 19 या 20 कह सकते हैं?
मैं तो यही कहूंगा कि भाजपा पार्टी संगठन, नीति व कार्यक्रम के आधार पर चलती है। हां, मिड टर्म चुनाव को हम भी तलाश रहे हैं। गहलोत के बजट को देखकर लगता है कि राजस्थान में मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं।
सवाल : 2018 के चुनाव में जनता में ये नारा था कि वसुंधरा तेरी खैर नहीं, मोदी तुझसे बैर नहीं। अब क्या देख रहे हैं।

2018 का चुनाव समाप्त हो चुका है। अब जनता यह कह रही है कि गहलोत तेरी खैर नहीं। हमारी पार्टी की मुख्यमंत्री वुसंधरा ने अपने कार्यकाल में यशस्वी विकास के कार्य किए हैं।
सवाल : नेताओं के मुख्यमंत्री के तौर पर नारे लगने लगे हैं ऐसा क्यों?
सबको यह ध्यान देना चाहिए। हमें व्यक्ति की बजाय भाजपा के नारे लगाने की जरूरत है। निर्णय करने का अधिकार तो पार्टी के शीर्ष नेतृतव का ही होता है।
सवाल : क्या आगे भी प्रदेश में मोदी के नाम से ही वोट मिलेंगे।
हां, निश्चित रूप से। मोदीजी प्रत्येक कार्यकर्ता के लिए गर्व की अनुभूति है। ऐसे विषयों को मोदी ने सुलझाया है जिसके बारे में कोई सोच नहीं सकता था। जैसे धारा 370 समाप्त करना। इन सात सालों में मोदी ने बड़े कार्य किए हैं। राजस्थान में भी भाजपा रूट पर कार्य कर रही है।
सवाल: जब मोदी के नाम पर वोट मिलेंगे तो चेहरा कोई भी हो सकता है?
मोदीजी इस बात को नहीं कहते। मोदी देश के नेता हैं। उनके कामों की पहचान है। जिसके कारण उनमें आमजन का विश्वास है। मोदी का नाम है। वहां कार्यकर्ता की ताकत भी है।
सवाल: क्या आपको लगता है वसुंधरा राजे को प्रदेश भाजपा की कमान दे देनी चाहिए?
वसुंधराजी पार्टी की वरिष्ठ नेता है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं, दो बार मुख्यमंत्री रही हैं। काेर ग्रुप की सदस्य हैं। ये काेर ग्रुप ही प्रदेश के संगठन का निर्णय करता है। वसुंधरा उसकी सदस्य है। मिलजुलकर पार्टी के सिद्धांतों के आधार पर निर्णय करेंगे।
सवाल : राजस्थान में कांग्रेस बिखरी, लेकिन मध्यप्रदेश की तरह भाजपा राजनीतिक लाभ नहीं ले सकी?
हमने कोई प्रयास नहीं किया। न भाजपा का कोई विधायक बाड़ेबंदी नहीं था। कांग्रेस के विधायक ही बाड़ेबंदी में रहे।
सवाल: किसानों से भाजपा को डर क्यों नहीं है?
किसान हमारी ताकत है। कोरोना में किसानों ने देश को ताकत दी है। कुछ तत्व किसान के नाम पर आंदोलन चलाना चाह रहे हैं। ये कानून किसानों के हित में हैं।
सवाल: राजस्थान में एक बार कांग्रेस एक बार भाजपा की सरकार। ऐसा कब तक चलेगा?
अब कांग्रेस देश से खत्म हो रही है। एक-एक प्रांत को देखेंगे तो पता चलेगा जहां कांग्रेस शासन में थी। अब कहीं नजर नहीं आती है। कांग्रेस देश से समाप्तिकी ओर है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *