अन्य सेवाओं से IAS बने: मंत्री ममता भूपेश के पति डॉ. घनश्याम समेत चार IAS बने, DOPT ने जारी की अधिसूचना


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश और उनके पति डॉ. घनश्याम बैरवा। (फाइल फोटो)

केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण मंत्रालय ने आज एक अधिसूचना जारी कर राजस्थान राज्य सेवा में कार्यरत 4 अधिकारियों को सीधे भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) में पदोन्नत किया है। इनमें गहलोत सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश के पति डॉ. घनश्याम बैरवा, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील के करीबी रहे शरद मेहरा, मुख्यमंत्री के सलाहकार गोविंद शर्मा की बहन हेमपुष्पा शर्मा और कृषि सेवा में कार्यरत सीताराम जाट शामिल हैं।

अन्य सेवा से भारतीय प्रशासनिक सेवा में पदोन्नत करने का राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) के अधिकारियों की एसोसिएशन ने इसका विरोध भी किया था। इसको लेकर एसोसिएशन ने कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसे खारिज कर दिया गया। आज डिपोर्टमेंट ऑफ पर्सनल एण्ड ट्रेनिंग (DOPT) के नोटिफिकेशन में भी इन चार अधिकारियों के चयन को दिल्ली हाईकोर्ट में अंतिम निर्णय के अधीन माना गया है।

चारों अधिकारियों को राजस्थान काडर आवंटित
मंत्रालय की अधिसूचना के मुताबिक डॉ. घनश्याम के साथ ही सीताराम जाट, हेमपुष्पा शर्मा और शरद मेहरा का IAS में चयन होने के उपरांत इन्हें राजस्थान काडर आवंटित किया है। 2019 की चयन सूची में इन्हें शामिल किया है। DOPT के नोटिफिकेशन अनुसार लेखा सेवा से शरद मेहरा और हेमपुष्पा शर्मा, कृषि सेवा से सीताराम जाट और चिकित्सा सेवा से डॉक्टर घनश्याम IAS बनाए गए है।

दिल्ली में UPSC ने 30 और 31 दिसंबर 2020 को अन्य सेवा से IAS के चार रिक्त पद भरने के लिए 20 अभ्यर्थियों के इंटरव्यू लिए गए। शरद मेहरा अभी वित्त बजट निदेशक हैं, जिन्हें पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील का करीबी माना जाता है। अन्य चयनित सीताराम जाट कृषि सेवा से हैं। 31 दिसम्बर को UPSC में 20 अभ्यर्थियों का इंटरव्यू हुआ था।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *