अजमेर जेल में बंद पपला गुर्जर: सुरक्षा कारणों का हवाला देकर मिलने आए पिता को लौटाया; वकील से हुई मुलाकात-कहा परेशान है पपला, दवा नहीं मिल रही, केन्टीन में नहीं खोल रहे खाता


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Returned Father To Meet For Security Reasons; Meeting With Lawyer Said Papala Is Upset, Cannot Get Medicine, Cannot Open Account In Canteen

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अजमेर17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अजमेर मिलने आए वकील गोविन्दसिंह रावत व उनके साथ पपला का पिता मनोहरलाल।

​​​​​हरियाणा और राजस्थान पुलिस के इनामी गैंगस्टर विक्रम गुर्जर उर्फ पपला से मिलने अजमेर आए पिता मनोहरलाल को सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए मिलने नहीं दिया गया और वापस लौटा दिया गया, वहीं वकील गोविन्दसिंह रावत की पपला से मुलाकात हुई। मुलाकात के बाद वकील का आरोप है कि पपला जेल में परेशान है और उसको दवा नहीं मिल रही है और न ही उसका केन्टीन में खाता खोला जा रहा है।

वकील को मिली अनुमति

कुख्यात गैंगस्टर पपला गुर्जर अजमेर की हाई सिक्योरिटी जेल में बंद है और पपला से मुलाकात करने के लिए उसका पिता मनोहरलाल और वकील गोविन्दसिंह रावत जेल पहुंचे. लेकिन प्रशासन ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पिता को पपला से मिलने नहीं दिया। पपला के वकील को केस संबंधी बातचीत करने के लिए ही पपला से मुलाकात करने की अनुमति दी गई।

वकील ने लगाए आरोप

पपला से मुलाकात के बाद वकील गोविन्दसिंह ने बताया कि पपला मुलाकात हुई और पता चला कि वह जेल में परेशान है। उसको दर्द है और उसे चिकित्सकीय परामर्श के अनुसार दवा नहीं दिलाई जा रही। बाहर से लाकर देने की अनुमति भी नहीं दी जा रही। खाने पीने के सामान के लिए उसका यहां केन्टीन में खाता भी नहीं खोला जा रहा। जबकि उसका भुगतान करने के लिए तैयार है। साथ ही वकील का कहना रहा कि पपला अपराधी है, लेकिन उसके साथ सलूक सही नहीं हो रहा l सुरक्षा कारणों का हवाला देकर माता-पिता से मिलने के लिए रोकना गलत है।

पिता बोले-4 साल पहले मिला

पपला के पिता मनोहरलाल ने बताया कि पपला से उनकी मुलाकात अलवर जेल में चार साल पहले हुई थी। इसके बाद मुलाकात नहीं हुई। वे उससे मिलना चाहते है और समझाते कि पहले जो भूल हो गई, आइन्दा गलती मत करना, कोर्ट में भरोसा रखें और आराम से रहे। लेकिन मिलने ही नहीं दिया गया। उन्होंने यह भी कहा कि उसका केन्टीन में खाता नहीं खोला जा रहा और दवाई नहीं दी जा रही है। जबकि वे इसका भुगतान करने काे तैयार है।

27 जनवरी को पपला को पुलिस ने कोल्हापुर से किया था गिरफ्तार

6 सितंबर 2019 को अलवर के बहरोड़ थाने से पपला के साथी उसे लॉकअप तोड़कर भागा ले गए थे। बदमाशों ने एके-47 जैसे आधुनिक हथियारों से थाने पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी। तब से पपला फरार था। पपला की तलाश में पुलिस ने कई राज्यों में 250 से अधिक ठिकानों पर पड़ताल की। करीब डेढ़ साल बाद 27 जनवरी की रात महाराष्ट्र के कोल्हापुर से पपला और उसकी गर्लफ्रेंड जिया को पकड़ा था। पपला को बाद में अजमेर की हाई सिक्योरिटी जेल में शिफ्ट कर दिया। वहीं, पपला के साथ गिरफ्तार हुई जिया उससहर अलवर जेल में बंद है।

इसलिए बदली पपला की जेल:76 CCTV वाली अजमेर जेल शिफ्ट किया, यहां कोठरियों में बिजली का एक पॉइंट नहीं, 40 फीट से ऊंची हैं बाहर की दीवारें

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *